Asianet News HindiAsianet News Hindi

लेडी इंसपेक्टर ने धौंस दी-अगर 28 लाख रुपए नहीं दिए, तो अभी गिरफ्तार कर लेगी...लेकिन पोल खुलते ही रफूचक्कर

वर्दी की धौंस दिखाकर एक शख्स से रिश्वत लेते पकड़ीं गईं मनीमाजरा थाने की टीआई जसविंदर कौर गायब हो गई हैं। CBI ने उन्हें 5 लाख रुपए की रिश्वत लेते पकड़ा था। उन्हें पूछताछ के लिए बुलाया गया, लेकिन वे फरार हो गईं। उल्लेखनीय है कि पहले भी यह लेडी इंस्पेक्टर रिश्वत लेते पकड़ी गई थीं। इन्हें सीनियर अफसरों का चहेता माना जाता है। यही वजह है कि इन्हें हमेशा अच्छी पोस्टिंग मिलती रही है। जानिए क्या है पूरा मामला...

Chandigarh Bribery, Jaswinder Kaur, SHO of Manimajra police station, was caught taking bribe kpa
Author
Chandigarh, First Published Jul 1, 2020, 11:12 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

चंडीगढ़. यह हैं मनीमाजरा थाने की टीआई जसविंदर कौर। रिश्वतखोरी में बदनाम हो चुकीं ये दबंग लेडी पुलिस अफसर फिर ऐसे ही मामले में फंस चुकी हैं। लेकिन लेडी इंसपेक्टर की दबंगई देखिए..जब सीबीआई ने उन्हें पूछताछ के लिए बुलाया..तो वे फरार हो गईं। बता दें कि एक शख्स को झूठे केस में फंसाने की धमकी देकर इस लेडी इंस्पेक्टर ने 28 लाख रुपए की अड़ी डाली थी। पहली किश्त 5 लाख रुपए लेते समय इन्हें सीबीआई ने पकड़ा था। इन्हें सीनियर अफसरों का चहेता माना जाता है। यही वजह है कि इन्हें हमेशा अच्छी पोस्टिंग मिलती रही है। जसविंदर कौर के खिलाफ पहले भी थाना 31 में रिश्वतखोरी का मामला दर्ज किया था। इस केस को सीबीआई देख रही थी, लेकिन सीनियर अफसरों ने केस चलाने की अनुमति नहीं दी। यह नहीं, कौर को मनीमाजरा जैसे महत्वपूर्ण थाने की कमान सौंप दी। अब जबकि दूसरी बार उन्हें रिश्वतखोरी में पकड़ा गया है, तब उनका ट्रांसफर पुलिस लाइन में किया गया है। मनीमाजरा थाने की कमान अब नीरज सरना को सौंपी गई है।

ऐसे फंसाया था...
फरियादी गुरदीप सिंह मनीमाजरा के मॉडर्न हाउसिंग कॉम्प्लेक्स में रहते हैं। उनका संगरूर निवासी रंधीर सिंह से कोई पुराना विवाद है। इसी को आड़ बनाकर कुलविंदर कौर ने उन्हें थाने बुलाया। इस दौरान कुलविंदर का दलाल भगवान सिंह मौजूद था। कुलविंदर ने गुरदीप को धमकाया कि रंधीर ने उसके खिलाफ शिकायत की है। शिकायत में रंधीर ने कहा है कि उसकी पत्नी को हरियाणा में जॉब लगवाने के लिए उसने 28 लाख रुपए ले लिए हैं। कुलविंदर ने गुरदीप को धमकाया कि अगर उसने यह पैसे नहीं दिए, तो वो उसे गिरफ्तार कर लेगी। इसके बाद कुलविंदर ने गुरदीप से खाली कागजों पर हस्ताक्षर करा लिए। इस पर लिखवा लिया कि गुरदीप अलग-अलग तारीखों में रंधीर को 23 लाख रुपए अदा करता रहेगा। वहीं जसविंदर ने 5 लाख रुपए अपने लिए मांगे।

Chandigarh Bribery, Jaswinder Kaur, SHO of Manimajra police station, was caught taking bribe kpa

ऐसे पकड़ी गईं..
गुरदीप ने 2 लाख रुपए 26 जून को भगवान सिंह के हाथों कुलविंदर तक पहुंचा दिए। बाकी 3 लाख रुपए 1 जुलाई को देने की बात हुई। लेकिन सीबीआई के बिछाए जाल के हिसाब से गुरदीप ने यह पैसे सोमवार रात ही देने का प्लान बनाया। जैसे ही गुरदीप ने यह पैसे भगवान सिंह को दिए सीबीआई ने उसे दबोच लिया। सीबीआई के कहने पर गुरदीप ने भगवान सिंह को कॉल किया था। यह रिकॉर्डिंग सीबीआई के पास है। पैसे मिलने पर जसविंदर को भगवान सिंह ने कॉल करके पैसे मिलने की बात कही थी। भगवान सिंह को सीबीआई ने रिमांड पर ले रखा है। बता दें कि पिछले साल भी जसविंदर कौर को रिश्वत लेते पकड़ा गया था। तब एक एसआई मोहनलाल उनके लिए दलाली करता था।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios