Asianet News Hindi

सिद्धू ने पत्नी के साथ पटियाला में तो बेटी ने अमृतसर वाले घर पर फहराया काला झंडा, जानिए विरोध की वजह


अपनी ही सरकार के खिलाफ अक्रामक रुख अपनाने और बयान देने वाले कांग्रेस नेता एवं और मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने मंगलवार को अपने पटियाला स्थित आवास की छत पर काला झंडा लगाया। वहीं दूसरी तरफ उनकी बेटी रबिया ने भी अमृतसर वाले घर पर झंडा लगाया।

navjot singh sidhu  patiala and amritsar hoisted black flag on roof kpr
Author
Amritsar, First Published May 25, 2021, 11:54 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

अमृतसर (पंजाब). पंजाब में जैसे-जैसे विधानसभा चुनाव पास आ रहे हैं, वैसे-वैसे राज्य की राजनीति गरमाने लगी है। अक्सर अपनी ही पार्टी और सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलने वाले कांग्रेस नेता और पूर्व कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के एक बार फिर तीखे तेवर देखने को मिले। उन्होंने अपने आवास पर काला झंडा फहराकर विरोध जताया। साथ ही उन्होंने अपना यह वीडियो ट्विटर पर शेयर कर विरोध की वजह भी बताई।

एक तरफ सिद्धू दंपत्ति तो दूसरी तरफ बेटी ने लगाया काला झंडा 
दरअसल, नवजोत सिंह सिद्धू ने यह काला झंडा अपने घर पर यानि अमृतसर में मंहलवार सुबह पहराया। उनके साथ में उनकी पत्नी नवतोज कौर  सिद्धू भी थीं। दूसरी तरफ सिद्धू के अमृतसर स्थित आवास पर उनकी बेटी राबिया ने काला झंडा लगाया। इस दौरान सिद्धू दंपती ने जो बोले सो निहाल सत श्री अकाल का जयकारा भी लगाया और किसानों के आंदोलन को अपना समर्थन देने की बात भी कही।

वीडियो शेयर कर सिद्धू ने कही ये बात
 नवजोत सिंह सिद्धू ने इस दौरान मीडिया से बात तो नहीं कि लेकिन सोशल मीडिया पर वीडियो के जरिए अपनी बात कही। उन्होंने कहा कि पिछले कई सालों से किसानों की आमदानी घट रही है। वहीं दूसरी तरफ वह कर्ज और महंगाई के परेशान हो चुका है। लेकिन क्रेंद सरकार ने यह  एक साथ तीनों कृषि कानून लाकर उनकी और मारडाला। पंजाब हर एक किसान इस कानून के खिलाफ लड़ाई लड़ रहा है। क्योंकि यह तीनों काले कानून किसान के साथ-साथ  मजदूर और व्यापारी के पेट पर लात मारने वाले हैं।

सिद्धू ने सरकार को दिया अल्टीमेटम
नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि जब तक केंद्र सरकार किसान विरोधी अपने तीनों काले कानूनों को वापस नहीं लेगी तबतक उनका ये काला झंडा नहीं उतरने वाला है। अगर यह कानून लागू रहे तो पंजाब फिर खड़ा नहीं हो पाएगा। पंजाब के किसान मजदूर इसके आने के बाद भूखे मर जाएंगे।

'हम तो डूबेंगे सनम, तुम्हें भी ले डूबेंगे'
बता दें कि सिद्धू ने पिछले दिनों सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह के प्रति आक्रामक रुख अपनाते हुए अपने ट्विटर प्रोफाइल से कांग्रेस नाम हटा लिया था। साथ उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा था- 'हम तो डूबेंगे सनम, तुम्हें भी ले डूबेंगे।'

अपनी ही सरकार की गिना रहे नाकामियां
पिछले कुछ दिन से नवजोत सिद्धू कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार पर कई तरह के आरोप लगाते हुए बयानबाजी कर रहे हैं। साथ ही वह सीएम पर भी तंज कसने का कोई मौक नहीं छोड़ते हं। वह आए दिन सरकार की नाकानियों को गिनाते रहते हैं।

पंजाब सरकार में कैबिनेट मंत्री पद से दिया था इस्तीफा
बता दें कि नवजोत सिंह सिद्धू ने जुलाई 2019 में लोकसभा चुनाव के परिणाम आने के बाद कैबिनेट मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने यह इस्तीफा राहुल गांधी को सौंपा था। जिसकी जानकारी उन्होने खुद ट्वीट के माध्यम से दी थी। वहीं कैप्टन सरकार पर विभाग सही से न संभाल पाने का आरोप लगाया था। इसी बात से नाराज होकर वह राज्य की कांग्रेस की सभी गतिविधियों से दूर हो गए थे। तब से सिद्धू और सीएम अमरिंदर  के बीच दूरियां पैदा हो गई थीं।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios