खेल-खेल में 3 साल के बेटे ने की ऐसी गलती, पिता ने उसी से भरवाया 22 हजार रुपए का जुर्माना

| Nov 29 2022, 03:45 PM IST

खेल-खेल में 3 साल के बेटे ने की ऐसी गलती, पिता ने उसी से भरवाया 22 हजार रुपए का जुर्माना
खेल-खेल में 3 साल के बेटे ने की ऐसी गलती, पिता ने उसी से भरवाया 22 हजार रुपए का जुर्माना
Share this Article
  • FB
  • TW
  • Linkdin
  • Email

सार

खेल-खेल में बच्चे कई गलती कर बैठते हैं। लेकिन जो काम इस पिता ने किया, बहुत ही कम लोग करते हैं। 3 साल के बच्चे को अच्छी सीख देने के लिए पिता ने उससे जुर्माना भरवाया। पूरी कहानी सुनकर बोलेंगे पैरेंटिंग हो तो ऐसी।

रिलेशनशिप डेस्क. इंसान को अगर सही और गलत का फर्क बचपन में ही सीखा दिया जाए तो समाज की एक खूबसूरत तस्वीर सामने आएगी। लेकिन ऐसा बहुत ही कम माता-पिता कर पाते हैं। बच्चे को अच्छी पैरेंटिंग कैसे दी जाती है, चीन के ग्वांगडोंग प्रांत में रहने वाले एक शख्स जिसका नाम ओयांग है ने बताया। उन्होंने अपने  3 साल के बेटे को सबक सीखाने के लिए अनोखा तरीका निकाला और 22 हजार रुपए( 2000 युआन ) का हर्जाना उसी से भरवाया। 

खेल-खेल में बच्चे ने लग्जरी कार पर मारी खरोंच

Subscribe to get breaking news alerts

दरअसल, तीन साल का बच्चा अपने दोस्तों के साथ बाहर खेल रहा था। इस दौरान उसे पड़ोसी की लग्जरी कार पर अपने खिलौने से खरोंच मार दिया। कार के मालिक ने उसे रंगे हाथों पकड़ लिया और इसकी सूचना ओयांग को दी। उन्होंने बच्चे की शिकायत उसके पिता से की। हालांकि पिता ने उनसे माफी मांगते हुए उम्र का हवाला दिया। लेकिन उन्होंने यह भी माना कि उनके बेटे की गलती की वजह से मालिक को नुकसान पहुंचा है।

बच्चे से भरवाया 22 हजार का जुर्माना

जिसके बाद ओयांग ने बच्चे को अपनी गलती का एहसास दिलाने और अच्छा इंसान बनाने के लिए एक तरकीब निकाला। उन्होंने 22 हजार रुपए बेटे को दिया और कार मालिक दे आने को कहा और साथ ही माफी मांगने के लिए भी कहा। जिसके बाद बच्चा कार मालिक को पैसा देने गया। जिसकी तस्वीर सामने आई है।

लोग कर रहे हैं तारीफ 

साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट में छपी खबर के मुताबिक ओयांग ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि बेटा यह समझ सकता है कि अगर उसने गलती की है तो उसका भुगतान करना पड़ता है। इस कदम से उनका बेटा सीखेगा कि गलती करने का मतलब जिम्मेदारी लेना भी होता है, भले ही उसे अभी उसकी कीमत नहीं पता हो। वहीं, लोग ओयांग के इस कदम की सराहना कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर उनकी तारीफ हो रही है। बच्चे को मारने या डांटने की बजाय उसे सीख देने के लिए उनका कदम बहुत ही सराहनीय है। ये ज्यादा प्रभावी तरीका है।

और पढ़ें:

83 साल की दादी का 37 साल का पति, शादी के 2 साल बाद सेक्स पर लग गया बैन

लाश के रोज मिल रहे थे टुकड़े, श्रद्धा मर्डर केस की तरह सामने आया एक और वारदात