रिलेशनशिप डेस्क। पति-पत्नी से नजदीकी रिश्ता और कोई दूसरा नहीं होता। आप जो बात किसी से नहीं कह सकते, अपनी पत्नी से कहने में नहीं झिझकेंगे। इसी तरह, पत्नी भी अपने पति से अपने दिल की सारी बातें कहती हैं। पति-पत्नी के बीच कई बार लड़ाई-झगड़े भी होते हैं, पर ऐसा होना स्वाभाविक है। शायद ही दुनिया में ऐसे पति-पत्नी मिलें, जिनके बीच झगड़ा ना हुआ हो। पर यह उनके बीच नजदीकी का परिचायक भी होता है। अक्सर झगड़े प्यार भरे रिश्तों में ही होते हैं और उन्हें भूल जाना चाहिए। पर कुछ लोगों के वैवाहिक रिश्ते बहुत तनावपूर्ण हो जाते हैं। ऐसे में, उनकी जिंदगी नरक के समान हो जाती है और इसका बच्चों पर भी बहुत बुरा असर होता है। जानें, कौन-सी गलतियों से बचें कि आपके रिश्ते में कड़वाहट नहीं आए और आपक वैवाहिक जीवन हमेशा सुखमय रहे।

1. जिम्मेदारी निभाएं
विवाह के बाद पति-पत्नी, दोनों के सामने कुछ नई जिम्मेदारियां आती हैं। इनमें कई बातें हो सकती हैं। इन्हें समझना और जिम्मेदारी को गंभीरता से निभाना जरूरी होता है। अगर आप अपनी जिम्मेदारी निभाएंगे तो किसी को शिकायत का मौका नहीं मिलेगा और जिंदगी खुशहाल रहेगी।

2. भविष्य की योजना मिलजुल कर बनाएं
अक्सर पति भविष्य की योजनाओं के बारे में पत्नी से बात नहीं करते। वे सोचते हैं कि औरतों को तो बस घरेलू काम निपटाने होते हैं, उनसे किसी खास योजना पर बात करने से क्या फायदा। यह गलत सोच है। आप कोई भी योजना बनाएं, उसके बारे में पत्नी से जरूर चर्चा और सलाह-मश्विरा करें। पत्नी की मानसिक योग्यता और क्षमता को कम कर के न आंकें। जब आप पत्नी से राय-विचार करेंगे तो  उसका भरोसा आप पर बढ़ेगा। इससे आपके रिश्ते की नींव मजबूत होगी।

3.  निजी बातों में दखल न दें
हर व्यक्ति का अपना स्वभाव होता है, अपनी आदतें और रुचियां होती हैं। इनमें बदलाव ला पाना कठिन होता है। अगर किसी की कोई आदत या रुचि गलत नहीं है तो उसमें दखलंदाजी न करें। इससे कटुता बढ़ेगी। एक-दूसरे की रुचियों का सम्मान करें। 

4. सास-ससुर की शिकायत न करें
पति और पत्नी, दोनों को चाहिए कि वे अपने सास-ससुर और रिश्तेदारों की बेवजह शिकायत न करें। अपने मां-बाप की शिकायत सुनना कोई पसंद नहीं करता। इससे बचें, नहीं तो आपस में क्लेश बढ़ेगा और जिंदगी बोझिल हो जाएगी।

5. एक-दूसरे का सम्मान करें
पति-पत्नी के लिए यह जरूरी है कि वे एक-दूसरे का सम्मान करें। कई लोग बेवजह किसी को नीचा दिखाने की कोशिश करते हैं। ऐसा करने से उनके अहम् को संतुष्टि मिलती है, पर यह बहुत ही गलत बात है। हर स्थिति में पति-पत्नी को एक-दूसरे का सम्मान करना चाहिए। इससे आपके अंदर भी आत्मसम्मान बना रहता है।