लाइफस्टाइल डेस्क। आजकल सोशल मीाडिया का असर हमारी लाइफ पर बढ़ता ही जा रहा है। हर आदमी फेसबुक और वॉट्सऐप के साथ ही कई दूसरे सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म का यूज कर रहा है। फेसबुक पर हर किसी को रोज ही न जाने कितने फ्रेंड रिक्वेस्ट आते हैं। जिनके बारे में हम कुछ भी नहीं जानते, उनके फ्रेंड रिक्वेस्ट भी आते हैं और लोग उन्हें एक्सेप्ट कर लेते हैं। इनमें मेल और फीमेल दोनों होते हैं। फेसबुक पर जब दो लोगों के बीच दोस्ती होती है तो वे फिर आपस में चैटिंग भी शुरू करते हैं। खासकर हर उम्र के पुरुष लड़कियों से चैटिंग में खास ही इंटरेस्ट दिखाते हैं, वहीं लड़कियां भी इस मामले में पीछे नहीं रहतीं। इसी दौरान अगर उनके बीच प्यार-मुहब्बत की बातें होने लगें तो कोई आश्चर्य की बात नहीं। कई सोशल मीडिया एनालिस्ट यह मानते हैं कि फेसबुक ऑनलाइन डेटिंग का भी एक बड़ा प्लैटफॉर्म बन गया है। जानें फेसबुक या दूसरे मीडिया प्लैटफॉर्म पर पनपने वाले प्यार के रिश्ते में क्या-क्या हो सकता है। 

1. फेसबुक पर फेक आईडी 
फेसबुक पर फेक आईडी की भरमार है। भारत में यह पाया गया है कि कई कुत्सित मानसिकता के पुरुषों ने लड़कियों की फेक आईडी बना रखी है और इसके जरिए वे लड़कियों के अलावा लड़कों से भी चैट कर उनकी प्राइवेट लाइफ की बातें जानने की कोशिश करते हैं। इनमें कई ऐसे होते हैं जो उनके करीबी होते हैं और वास्तव में उन्हें जानते हैं, पर फेक आईडी बना कर वे उनके चरित्र की असलियत पता करना चाहते हैं। कई तो झूठे प्रेम संबंध बना कर प्राइवेट पिक्स तक हासिल कर लेते हैं और बाद में उसका इस्तेमाल ब्लैकमेल करने में करते हैं।

2. प्यार का झूठा नाटक
कई लड़के फेसबुक पर किसी लड़की से फ्रेंडशिप करने के बाद उससे चैटिंग करते हुए धीरे-धीरे प्यार की पींगे बढ़ाते हैं। अगर लड़की उनके जाल में फंस गई तो वे उसका फोन नंबर और वॉट्सऐप नंबर मांग लेते हैं और फिर रेग्युलर कॉन्टैक्ट में रहने लगते हैं। इस दौरान वे लड़की को प्यार की मीठी-मीठी बातों में फंसा कर उसकी इंटिमेट तस्वीरें लेने की कोशिश करते हैं। अगर लड़की ने अपने फेसबुक प्रेमी को वैसी तस्वीरें दे दी तो फिर आगे चल कर वे उसका गलत इस्तेमाल कर सकते हैं। 

3. फोन करते हैं टैप
ऐसे प्रेमी अक्सर लड़की से एकांत में फोन पर बातें करते हैं। कई बार ये बातें काफी अश्लील भी होती हैं। जब भी लड़के लड़की से ऐसी बातें करते हैं, वे उसका फोन टैप करते हैं। इसका इस्तेमाल वे समय आने पर ब्लैकमेल करने के लिए कर सकते हैं। कई बार शातिर किस्म के ऐसे लोग लड़की का फोन टैप यूट्यूब पर भी डाल देते हैं। 

4. छुपा कर रखते हैं अपनी पहचान
 जरूरी नहीं कि फेसबुक पर ऐसे लोग अपना रियल तस्वीर ही लगाते हों, ये किसी की भी तस्वीर लगा सकते हैं। अगर वे 50 साल के अधेड़ हों तो फेसबुक पर अपने को 25 साल का दिखा सकते हैं। ऐसे धोखेबाज लोग अपनी फेसबुक प्रेमिका के कहने पर भी उससे नहीं मिलते और कई तरह के बहाने बना देते हैं। ऐसे लोग कई फोन नंबर रखते हैं। इनकी खासियत होती है कि ये अपना फोन नंबर और वॉट्सऐप नंबर बदलते रहते हैं। अगर लड़की इनके जाल में पूरी तरह फंस गई तो ये उससे पैसों की डिमांड भी करते हैं। कुछ भोली-भाली लड़कियां इनके बैंक अकाउंट में पैसे भेज भी देती हैं। ये अकाउंट भी कई रखते हैं। जब ये किसी लड़की को पूरी तरह धोखा देने में सफल हो जाते हैं तो उसे हर जगह से ब्लॉक कर ऐसे गायब हो जाते हैं जैसे गधे के सिर से सींग।

5. बरतें सावधानी
फेसबुक पर किसी से अंतरंगता बढ़ाने के पहले उससे मिल कर वास्तविकता जानें। सिर्फ फेसबुक पर ही किसी को जानना काफी नहीं है। यहां कई सूचनाएं छिपाई जा सकती हैं तो कई चीजों के बारे में झूठ बोला जा सकता है। फेसबुक पर दोस्ती होते ही कोई फोन नंबर या वॉट्सऐप नंबर मांगे तो सतर्क हो जाएं। फेसबुक और दूसरे सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म वर्चुअल मीडियम हैं। जिसे रियल में न देखा, न यह जाना कि वह कहां रहता है, क्या करता है, उसका सोशल स्टेटस क्या है, उससे प्यार करना मूर्खता के सिवा और कुछ भी नहीं। इसमें धोखे के सिवा और कुछ नहीं मिलेगा, बदनामी अलग से होगी।