Asianet News Hindi

दादा साहब फाल्के अवार्ड मिलने पर रजनीकांत को PM मोदी ने दी बधाई तो एक्टर ने भी जताया आभार

साउथ फिल्मों के सुपरस्टार रजनीकांत को फिल्म दुनिया का सबसे बड़ा अवॉर्ड दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड से नवाजा जाएगा। आज केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इसकी घोषणा की है। उन्होंने बताया है कि रजनीकांत को 51वां दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड 3 मई को दिया जाएगा। 

51st dadasaheb phalke award will Give to Actor Rajinikanth KPY
Author
Mumbai, First Published Apr 1, 2021, 10:22 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. साउथ फिल्मों के सुपरस्टार रजनीकांत को फिल्म दुनिया का सबसे बड़ा अवॉर्ड दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड से नवाजा जाएगा। आज केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इसकी घोषणा की है। उन्होंने बताया है कि रजनीकांत को 51वां दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड 3 मई को दिया जाएगा। बता दें कि रजनीकांत को 2019 का दादा साहेब फाल्के पुरस्कार दिया जाएगा। उन्हें इससे पहले पद्म भूषण और पद्म विभूषण से भी सम्मानित किया जा चुका है। भारतीय सिनेमा के इतिहास में अभिनेता, निर्माता और पटकथा लेखक के रूप में उनका योगदान अद्भुत रहा है।

1969 में शुरू हुआ था दादा साहेब फाल्के अवार्ड

दादा साहेब फाल्के अवार्ड भारत में सिनेमा के क्षेत्र में दिया जाने वाला सर्वोच्च सम्मान है, जिसे राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार समारोह में दिया जाता है। इस समारोह का आयोजन सूचना और प्रसारण मंत्रालय की तरफ से किया जाता है। दादा साहेब फाल्के पुरस्कार भारतीय सिनेमा के विकास में उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया जाता है। इस प्रतिष्ठित पुरस्कार की शुरुआत 1969 में हुई थी।

रजनीकांत ने पीएम मोदी का जताया आभार

पीएम मोदी के ट्वीट के बाद रजनीकांत ने उन्हें ट्वीट करके आभार जताया है। उन्होंने पोस्ट में लिखा, 'सम्मानित और सबसे प्रतिष्ठित दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से नवाजे जाने पर काफी आनंद की अनुभूति हो रही है। पीएम नरेंद्र मोदी जी, आपको और भारत सरकार को मेरा हार्दिक धन्यवाद।'

 

कौन थे दादा साहेब फाल्के?

30 अप्रैल, 1870 को त्रयंबकेश्वर में जन्मे दादा साहेब फाल्के को भारतीय फिल्म उद्योग का पितामह माना जाता है। दादा साहेब फाल्के ने ही देश की पहली फुल लेंथ फीचर फिल्म राजा हरिश्चंद्र का निर्माण किया था। इस फिल्म निर्माण के लिए उनकी पत्नी को अपने गहने तक बेचने पड़ थे। शुरुआत में इस फिल्म को समीक्षकों ने नकार दिया, लेकिन बाद में आम दर्शकों के बीच यह फिल्म जबरदस्त हिट साबित हुई। इस फिल्म के बाद से ही देश में फीचर फिल्मों का चलन लगातार बढ़ने लगा। सिनेमा में उनके पैशन को देखते हुए दादा साहेब फाल्के को इंग्लैंड से भी कई ऑफर मिले, लेकिन उन्होंने भारत में रहकर फिल्मों का निर्माण करना चुना।

आप 100 प्रतिशत इस सम्मान के हकदार हैं- कमल हासन

रजनीकांत को दादा साहेब फाल्के पुरस्कार मिलने की घोषणा के बाद कमल हासन ने ट्वीट किया और कहा, 'सुपरस्टार और मेरे प्रिय दोस्त, जिन्होंने ये साबित किया कि स्क्रीन से फैंस जीते जा सकते हैं। आप इस सम्मान के हकदार 100 प्रतिशत हैं।'

 

किसे मिलता है दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड

दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड सिनेमा के क्षेत्र में भारत का सबसे बड़ा पुरस्कार है। हर साल किसी एक एक्टर या एक्ट्रेस को इस पुरस्कार के लिए चुना जाता है। डायरेक्टरेट ऑफ फिल्म फेस्टिवल्स द्वारा नेशनल फिल्म अवॉर्ड्स समारोह (National Film Awards) में विजेता को इस पुरस्कार से नवाजा जाता है। यह पूरी प्रक्रिया केंद्र सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय (MIB - Ministry of Information and Broadcasting) के अधीन आती है।

इन्हें मिल चुका है अवॉर्ड

सबसे पहला दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड एक्ट्रेस देविका रानी को दिया गया था। उन्हें 17वें नेशनल फिल्म अवॉर्ड्स समारोह में इस पुरस्कार से नवाजा गया था। देविका रानी को भारतीय सिनेमा की फर्स्ट लेडी भी कहा जाता है। अमिताभ बच्चन को मिलाकर अब तक कुल 50 लोगों को यह सम्मान दिया जा चुका है। 

विजेता के नाम साल
देविका रानी 1969
बिरेंद्रनाथ सरकार 1970
पृथ्वीराज कपूर 1971
पंकज मल्लिक 1972
रूपी मियर्स (सुलोचना) 1973
बीएन रेड्डी 1974
धीरेंद्रनाथ गांगुली 1975
कानन देवी 1976
नितिन बोस 1977
रायचंद बोरल 1978
सोहराब मोदी 1979
पैदी जयराज 1980
नौशाद 1981
एलवी प्रसाद 1982
दुर्गा खोटे 1983
सत्यजीत रे 1984
वी. शांताराम 1985
बी नागी रेड्डी 1986
राज कपूर 1987
अशोक कुमार 1988
लता मंगेशकर 1989
अक्कीनेनी नागेश्वर राव 1990
भालजी पेंधरकर 1991
भूपेन हजारिका 1992
मजरूह सुल्तानपुरी 1993
दिलीप कुमार 1994
राजकुमार 1995
शिवाजी गणेसन 1996
कवि प्रदीप 1997
बीआर चोपड़ा 1998
ऋषिकेश मुखर्जी 1999
आशा भोसले 2000
यश चोपड़ा 2001
देवानंद 2002
मृणाल सेन 2003
अदूर गोपालकृष्णन 2004
श्याम बेनेगल 2005
तपन सिन्हा 2006
मन्ना डे 2007
वीके मूर्ति 2008
डी. रामनायडू 2009
के. बालचंद्र 2010
सौमित्र चटर्जी 2011
प्राण 2012
गुलजार 2013
शशि कपूर 2014
मनोज कुमार 2015
कासीनाथुनी विश्वनाथ 2016
विनोद खन्ना 2017
अमिताभ बच्चन 2018
Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios