Asianet News Hindi

PUBG की जगह स्वदेशी FAU-G अक्टूबर में होगा लॉन्च, पहले लेवल में गलवान घाटी को किया शामिल

चीन के साथ सीमा विवाद की वजह से भारत सरकार ने हाल ही में डिजिटल स्ट्राइक करते हुए 118 चाइनीज ऐप्स पर बैन लगा दिया। इनमें बेहद पॉपुलर गेमिंग ऐप PUBG भी शामिल है। अब बेंगलुरु की nCore गेम्स  ने अक्टूबर के अंत तक अपना 'फीयरलेस एंड यूनाइटेड  गार्ड्स' (FAU-G) लॉन्च करने की घोषणा की है। यह PUBG का स्वदेशी संस्करण साबित होगा। 
 

PUBG Indian alternative FAU-G to launh in October last, will include a level on Galwan valley MJA
Author
New Delhi, First Published Sep 5, 2020, 4:34 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

टेक डेस्क। चीन के साथ सीमा विवाद की वजह से भारत सरकार ने हाल ही में डिजिटल स्ट्राइक करते हुए 118 चाइनीज ऐप्स पर बैन लगा दिया। इनमें बेहद पॉपुलर गेमिंग ऐप PUBG भी शामिल है। अब बेंगलुरु की nCore गेम्स  ने अक्टूबर के अंत तक अपना 'फीयरलेस एंड यूनाइटेड गार्ड्स' (FAU-G) लॉन्च करने की घोषणा की है। यह PUBG का स्वदेशी संस्करण साबित होगा। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, nCore गेम्स बॉलीवुड स्टार अक्षय कुमार के साथ मिल कर एक बैटल रॉयल मोबाइल वीडियो गेम लॉन्च करने जा रही है, जो चाइनीज टेक कंपनी टेनसेंट (Tencent) के पॉपुलर गेमिंग ऐप 'प्लेयर अननोन बैटलग्राउंड' (PUBG) का विकल्प होगा। 

कुछ महीने से चल रहा था काम
रिपोर्ट के मुताबिक, nCore गेम्स कंपनी के को-फाउंडर गोंडाल ने कहा कि इस गेम पर पिछले कुछ महीने से काम चल रहा था। अब जल्द ही इसे अंतिम रूप दे दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस गेम का पहला लेवल गलवान घाटी पर आधारित होगा। गौरतलब है कि जून में गलवान घाटी में सीमा विवाद को लेकर भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच झड़प हुई थी। तब से यह विवाद लगातार बना हुआ है। 

भारत ने किया डिजिटल स्ट्राइक
इस विवाद के बाद भारत ने चीन की टेक कंपनियों पर डिजिटल स्ट्राइक करते हुए पहले 59 चाइनीज ऐप्स को बैन कर दिया। उसके बाद भी चाइनीज ऐप को बैन किए जाने का सिलसिला जारी रहा। फिलहाल, बुधवार को मोदी सरकार ने चीन के 118 मोबाइल ऐप्स को बैन कर दिया, जिनमें PUBG भी शामिल है। 

देश की सुरक्षा और संप्रभुता के लिए खतरनाक
भारत सरकार ने चाइनीज ऐप्स को देश की सुरक्षा, संप्रभुता और अखंडता के लिए खतरनाक बताते हुए उन पर बैन लगाया है। बैन किए गए ऐप में  PUBG MOBILE Nordic Map, Livik, PUBG MOBILE LITE, WeChat Work और  WeChat reading शामिल हैं। 

रेवेन्यू का 20 फीसदी हिस्सा ट्रस्ट में 
कंपनी के को-फाउंडर गोंडाल ने कहा कि nCore गेम के इस ऐप का मकसद देशभक्ति को बढ़ावा देना है और इसके नेट रेवेन्यू का 20 फीसदी हिस्सा सरकार समर्थित उस ट्रस्ट में जाएगा, जो ड्यूटी पर शहीद होने वाले सैनिकों के परिवारों की मदद करता है। उन्होंने कहा कि अभिनेता अक्षय कुमार एक सेना अधिकारी के बेटे हैं। उन्हें भारतीय सैनिकों को समर्थन देने के लिए जाना जाता है। ट्रस्ट को स्थापित करने में उनकी मुख्य भूमिका रही है। इसके साथ ही, इस गेम के के कॉन्सेप्ट को विकसित करने में भी उन्होंने मदद की है। 

वीडियो में देखें कैसे मोदी सरकार ने दिया चालाक चीन को झटका

"

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios