Rishi Ganga  

(Search results - 4)
  • undefined

    StateFeb 21, 2021, 4:28 PM IST

    ऋषि गंगा झील में है करीब 4.80 करोड़ लीटर पानी,केदारनाथ में तबाही मचाने वाली चौराबाड़ी से भी है बड़ी

    चमोली (Uttarakhand) । ऋषि गंगा झील में करीब 4.80 करोड़ लीटर पानी होने का अनुमान है। इस झील में होने वाली सारी हलचल पर नजर रखने के लिए विशेषज्ञों की टीम लगाई गई है। इसके अलावा ऋषिगंगा नदी में सेंसर भी लगाया गया है, जिससे नदी का जलस्तर बढ़ते ही अलार्म बज जाएगा। SDRF ने कम्युनिकेशन के लिए यहां एक डिवाइस भी लगाई है।

  • <p>uttarakhand</p>
    Video Icon

    NationalFeb 8, 2021, 9:05 AM IST

    चमोली: मौत के मलबे में जिदंगी की उम्मीद, दूसरे दिन दिखी तबाही की तस्वीरें

    वीडियो डेस्क। उत्तराखंड के चमोली के तपोवन में ग्लेशियर टूटने की वजह से धौलीगंगा नदी में बाढ़ आ गई। इसके चलते आसपास के इलाकों में पानी भर गया। इस हादसे में सरकारी कंपनी NTPC के प्रोजेक्ट पर काम कर रहे करीब 150 मजदूरों की जान जाने की आशंका है। हालांकि, आईटीबीपी ने तपोवन टनल में फंसे 16 लोगों को निकाला। हालांकि अभी तक  14 लोगों के शब भी बरामद हुए हैं। ITBP के जवान यहां सुरंग से लोगों को निकालने में जुटे हैं। मलबा और पानी होने से लोगों को निकालने में मुश्किल आ रही है। 100 से ज्यादा लोग अभी गायब बताए जा रहे हैं। 

  • undefined

    BollywoodFeb 7, 2021, 6:37 PM IST

    उत्तराखंड में ग्लेशियर से मची तबाही, अक्षय कुमार, श्रद्धा कपूर समेत इन सेलेब्स ने मांगी सलामती की दुआ

    उत्तराखंड के चमोली (Chamoli) में ग्लेशियर (Glacier) टूटने से भारी तबाही की आशंका जताई जा रही है। राज्य के चमोली जिले के पास तपोवन में ग्लेशियर फटने से धौलीगंगा पर बना बांध बह गया। इसके साथ ही नदियों में बाढ़ और मलबा तेजी से बहने लगा, जिससे आसपास के घरों में रहने वाले करीब 170 से ज्यादा लोगों के मरने की आशंका है। इस आपदा पर बॉलीवुड सेलेब्रिटीज के भी रिएक्शन आए हैं। 

  • undefined

    Other StatesFeb 7, 2021, 5:57 PM IST

    क्या है ऋषि गंगा पावर प्रोजेक्ट, जिसे देवभूमि में आए सैलाब ने कर दिया तबाह..गायब हैं यहां के 150 मजदूर


    देहरादून. उत्तराखंड में रविवार को ग्लेशियर टूटने से बड़ा हादसा हो गया। इस प्राकृतिक आपदा में  150-180 लोगों के मौत की आशंका जताई जा रही है। मौके पर लोगों को बचाने के लिए एनडीआरएफ, आईटीबीपी, थल सेना और वायु सेना के जवान राहत एवं बचाव कार्य में जुटे हुए हैं। दरअसल, इस हादसे में सबसे ज्यादा नुकसान ऋषि गंगा पावर प्रोजेक्ट को हुआ है और यहां काम करने वाले कई मजदूर लापता हैं। आइए जानते हैं क्या है ऋषि गंगा पावर प्रोजेक्ट...