Asianet News Hindi

कोरोना में क्यों बढ़ने लगा है लोगों का ब्लड शुगर, संक्रमण का खतरा 30% ज्यादा, जानें बचने का तरीका

अपोलो हॉस्पिटल के डॉक्टर एसके वांगनू ने कहा कि कोरोना महामारी में कोई भी व्यक्ति चाहे वह डायबिटीज का रोगी है या नहीं, शुगर की जांच कराना जरूरी है। इतना ही नहीं, अगर 5 साल का बच्चों कोरोना से संक्रमित होता है तो उसे भी ब्लड शुगर की जांच करानी चाहिए। इससे इलाज में मदद मिलेगी।
 

Blood sugar patients 30 percent higher risk in corona epidemic kpn
Author
New Delhi, First Published May 21, 2021, 4:45 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. कोरोना महामारी की दूसरी लहर में संक्रमित मरीज को शुगर है तो उसे बहुत ज्यादा सावधानी रखने की जरूरत है। हाल ही में की गई एक रिसर्च में पता चला है कि हाइपरग्लाइकेमिया यानी हाई ब्लड शुगर से पीड़ित लोगों में कविड-19 के संक्रमण का खतरा 30 प्रतिशत ज्यादा होता है। 

कोरोना में क्यों बढ़ने लगा है शुगर? 
मैक्स हॉस्पिटल में एंडोक्रिनोलॉजी डायबिटीज एंड ओबेसिटी के प्रिसिंपल डायरेक्टर डॉक्टर सुरजीत झा ने कहा, देश में लगभग 10-13 प्रतिशत लोग डायबिटीज से पीड़ित हैं। कोरोना महामारी में कोई भी घर से बाहर नहीं निकल रहा है। ऐसे में शरीर की एक्टिविटी कम हो रही है और हेल्थ और ब्लड शुगर लेवल बढ़ जाता है। 

स्टेरॉयड से भी बढ़ता है शुगर
शरीर में किसी तरह का संक्रमण भी ब्लड शुगर बढ़ाने का कारण बन सकता है। अच्छा खाना नहीं खाना, तेज बुखार और दूसरे कारण ब्लड में शुगर के लेवल को बढ़ा देते हैं। इसके अलावा कई लोग स्टेरॉयड लेते हैं, जो ब्लड में शुगर को बढ़ा देता है। 

कोरोना से ठीक होने पर बढ़ जाता है शुगर
कोरोना संक्रमित मरीज में भी शुगर का लेवल बढ़ जाता है। दरअसल, जब कोरोना शरीर पर अटैक करता है तो बॉडी के इम्युन सेल्स कुछ केमिकल छोड़ते हैं। ये सेल्स कोरोना वायरस पर हमला तो करते हैं लेकिन साथ ही शरीर के बाकी सेल्स को भी नुकसान पहुंचाते हैं। ऐसे में जो सेल्स खून में शुगर की मात्रा बनाए रखते हैं वो भी प्रभावित होते हैं और शुगर का लेवल बढ़ने लगता है। इसे डॉक्टरों की भाषा में इंसुलिन रेसिस्टेंस कहते हैं। 

कोरोना हुआ तो शुगर का टेस्ट मुश्किल
अगर कोई व्यक्ति कोरोना से पीड़ित है तो उसका हाई ब्लड शुगर लेवल चेक करना मुश्किल है। इसलिए ब्लड में शुगर के लेवल का पता करने के लिए ब्लड शुगर लेवल टेस्ट के साथ HbA1c करवाना सबसे अच्छा है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक, जो लोग हाई ब्लड शुगर लेवल से पीड़िता है और उन्हें भी कोरोना वायरस हो गया है, तब उन्हें सलाह दी जाती है कि वे कोविड से ठीक होने के दौरान शुगर लेवल का विशेष ध्यान रखें। 

Asianet News का विनम्र अनुरोधः आईए साथ मिलकर कोरोना को हराएं, जिंदगी को जिताएं...। जब भी घर से बाहर निकलें माॅस्क जरूर पहनें, हाथों को सैनिटाइज करते रहें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। वैक्सीन लगवाएं। हमसब मिलकर कोरोना के खिलाफ जंग जीतेंगे और कोविड चेन को तोडेंगे। #ANCares #IndiaFightsCorona

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios