Asianet News Hindi

अपार्टमेंट में कोरोना: क्या एक फ्लोर से दूसरे फ्लोर पर फैल सकता है वायरस, जानें रिसर्च क्या कहती है?

कोविड के विषय में दिसंबर 2020 में एक रिपोर्ट प्रकाशित हुई, जिसमें बताया गया कि अपार्टमेंट में ड्रेनेज पाइप्स एक दूसरे से कनेक्ट रहते हैं। इनके जरिए कोरोना का वायरस फैलने का खतरा रहता है।  

Can corona viruses spread from floor to floor kpn
Author
New Delhi, First Published May 25, 2021, 4:16 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. कोरोना की दूसरी लहर में कई ऐसे केस सामने आए हैं, जिसमें कोई व्यक्ति महीनों घर से बाहर नहीं निकला, लेकिन वो कोरोना से संक्रमित हो गया। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या अपार्टमेंट में रहने वाले लोग बिना घर से निकले एक-दूसरे को संक्रमित कर सकते हैं? क्या किसी अपार्टमेंट में एक फ्लोर से दूसरे फ्लोर पर कोरोना का वायरस फैल सकता है? इसका एक लाइन में जवाब है हां। लेकिन कैसे? इसे कुछ रिसर्च के जरिए समझते हैं। 

2002 में एक शोध किया गया था 

कोरोना महामारी से पहले 2002 में सार्स के प्रकोप के दिनों में एक शोध किया गया था कि कोई भी वायरस एक फ्लोर से दूसरे फ्लोर पर फैल सकता है, जिसमें पाया गया कि विभिन्न मंजिलों पर फ्लैटों के बीच ट्रांसमिशन संभव है। रिसर्च में कहा गया कि अपार्टमेंट में कई ट्रांसमिशन रूट्स हो सकते हैं। जैसे की फ्लैट्स के बीच खुली खिड़कियों के जरिए संक्रमण फैल सकता है। इसके अलावा निचली मंजिल की खिड़की से पलूटेड एयर ऊपरी मंजिल को खिलड़ी में प्रवेश कर सकती है।

2020 में कोविड पर भी हुई रिसर्च 

कोविड के विषय में दिसंबर 2020 में एक रिपोर्ट प्रकाशित हुई, जिसमें बताया गया कि अपार्टमेंट में ड्रेनेज पाइप्स एक दूसरे से कनेक्ट रहते हैं। इनके जरिए कोरोना का वायरस फैलने का खतरा रहता है। यह अध्ययन चीन में रहने वाले तीन परिवारों में कोविड-19 के फैलने की वजह का पता लगाने के लिए किया गया था। ये परिवार पिछले साल 26 जनवरी से 13 फरवरी के बीच कोविड -19 से संक्रमित हुए थे। 

चीन के परिवार पर की गई रिसर्च

इन परिवारों में से एक वुहान से लौटा था, जो कोरोनो वायरस से संक्रमित था। शोधकर्ताओं ने पाया कि तीनों परिवारों के बीच कोई संपर्क नहीं था, जिसके कारण कोविड फैलने की संभावना हो। शोधकर्ताओं ने लिफ्ट की जांच की और कहा, लिफ्ट या अन्य जगहों के संक्रमण फैलने के कोई सबूत नहीं मिले हैं। तीनों परिवार के मास्टर बाथरूम के ड्रेनेज पाइप जुड़े थे। इसी से संक्रमण फैलने की संभावना जताई गई।

पेपर में किस बात पर जोर दिया गया
 शोध के बाद पब्लिश पेपर में कहा गया कि कोविड के फैलने की वजह सही वेंटिलेशन सिस्टम का न होना, अनजाने में वायु प्रवाह और दोषपूर्ण प्लंबिंग हो सकती है। इसलिए घर का वेटिंलेशन सिस्टम सही तरीके का होना चाहिए।  हालांकि, कुछ रिसर्च में एक चीनी रेस्तरां को भी शामिल किया गया, जहां जनवरी 2020 में नौ लोग कोविड से संक्रमित हो गए थे। इसमें संक्रमण फैलने के लिए एयर कंडीशनर को वजह बताया गया। 

अपार्टमेंट में फैल सकता है कोरोना?
इसका जवाब है हां। एक ऊंची इमारत में एक फ्लैट से दूसरे फ्लैट में कोविड -19 के फैलना संभव है। हालांकि इस तरह के संक्रमण फैलने के सटीक कारण स्पष्ट रूप से नहीं पाए गए हैं।

Asianet News का विनम्र अनुरोधः आइए साथ मिलकर कोरोना को हराएं, जिंदगी को जिताएं...जब भी घर से बाहर निकलें माॅस्क जरूर पहनें, हाथों को सैनिटाइज करते रहें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। वैक्सीन लगवाएं। हमसब मिलकर कोरोना के खिलाफ जंग जीतेंगे और कोविड चेन को तोडेंगे।#ANCares #IndiaFightsCorona

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios