Asianet News Hindi

देश में पहली बार होगा कि किसी सरकारी स्कूल में बच्चे तैयार करेंगे सैटेलाइट, इसरो करेगा मदद

आमतौर पर ऐसे प्रोजेक्ट्स में इंजीनियरिंग के छात्र शामिल होते हैं। लेकिन पहली बार ऐसा होगा कि स्कूल के बच्चे इंडियन टेक्नोलॉजिकल कांग्रेस एसोसिएशन और इसरो की मदद से ये काम करेंगे। 

Children design satellite government school in Karnataka kpn
Author
New Delhi, First Published Jul 10, 2021, 10:53 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बेंगलुरू. कर्नाटक के मल्लेश्वरम का मट्टीकेरे मॉडल प्राइमरी स्कूल ऐसा काम करने जा रहा है, जिसपर पूरे देश को गर्व होगा। ये देश का पहला ऐसा स्कूल बनने जा रहा है जहां से उपग्रह लॉन्च किया जाएगा। कर्नाटक के डिप्टी सीएम अश्वथ नारायण ने कहा कि यहां मल्लेश्वरम में सरकारी बॉयज हाई स्कूल देश का पहला सरकारी स्कूल बन जाएगा, जो सैटेलाइट लॉन्च करने के कार्यक्रम का हिस्सा लेगा।

स्कूल में ही तैयार होंगे सैटेलाइट की डिजाइन
आमतौर पर ऐसे प्रोजेक्ट्स में इंजीनियरिंग के छात्र शामिल होते हैं। लेकिन पहली बार ऐसा होगा कि स्कूल के बच्चे इंडियन टेक्नोलॉजिकल कांग्रेस एसोसिएशन और इसरो की मदद से ये काम करेंगे। 

सैटेलाइट की डिजाइनिंग का काम स्कूल में ही होगा। प्रोजेक्ट में कुछ और सरकारी स्कूल के बच्चे शामिल होंगे। मल्लेश्वरम से विधायक अश्वथ नारायण ने कहा, मल्लेश्वरम में स्कूल के छात्र 75वें स्वतंत्रता दिवस समारोह के तहत 75 उपग्रहों को लॉन्च करने के कार्यक्रम में शामिल होंगे, जो अगले साल आयोजित किया जाएगा।

कोरोना में भी बढ़े हैं स्कूल एडमिशन
स्कूल में सैटेलाइट की डिजाइनिंग और बनाने का काम किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकारी स्कूलों में अच्छी पढ़ाई के लिए प्राइवेट स्कूलों से प्रतिस्पर्धा करनी चाहिए। 

कोरोना काल में भी कुछ सरकारी स्कूलों में एडमिशन में बढ़ोत्तरी हुई है। इसमें मल्लेश्वरम निर्वाचन क्षेत्र के सरकारी स्कूलों में सबसे ज्यादा 500 बच्चों की बढ़ोत्तरी हुई है। यही वजह है कि यहां के सरकारी स्कूल को प्रोग्राम में शामिल होने के लिए चुना गया है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios