Asianet News Hindi

चीन ने 90 दिन के लिए अंतरिक्ष यात्रा पर भेजे 3 एस्ट्रोनॉट्स, वहां पहुंचने पर हुआ लाइव टेलीकास्ट

जिउक्वान लॉन्चिंग केंद्र के डायरेक्टर झांग झिफेन ने कहा, बीजिंग एयरोस्पेस कंट्रोल सेंटर की रिपोर्ट के मुताबिक, लॉन्ग मार्च-2 एफ रॉकेट ने शेनझोउ-12 अंतरिक्ष यान को पूर्व निर्धारित कक्षा में भेज दिया है।

China sent its 3 astronauts to space kpn
Author
New Delhi, First Published Jun 17, 2021, 11:38 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

जिउक्वान. चीन ने अपने नए अंतरिक्ष स्टेशन के लिए पहले तीन एस्ट्रोनॉट्स को रवाना किया। ये बीजिंग को एक प्रमुख अंतरिक्ष शक्ति के रूप में स्थापित करने में एक ऐतिहासिक कदम माना जा रहा है। तियांगोंग स्टेशन के लिए लॉन्ग मार्च -2 एफ रॉकेट के जरिए तीनों को लॉन्च किया गया। ये एस्ट्रोनॉट्स यहां तीन महीने बिताएंगे और स्टेट टीवी पर प्रसारण किया जाएगा।

अंतरिक्ष यान के अंदर से दिखा लाइव  वीडियो
उत्तर पश्चिमी चीन के गोबी रेगिस्तान में जिउक्वान लॉन्च सेंटर से सुबह 9:22 बजे (0122 GMT) लिफ्ट-ऑफ हुआ। लगभग 10 मिनट के बाद यह कक्षा में पहुंच गया और अंतरिक्ष यान रॉकेट से अलग हो गया। स्टेट ब्रॉडकास्टर सीसीटीवी ने अंतरिक्ष यान के अंदर से एक लाइव वीडियो दिखाया, जिसमें तीनों अंतरिक्ष यात्री अपना हेलमेट निकाल रहे थे।

 


 
 

मिशन के कमांडर हैं नी हैशेंग
जिउक्वान लॉन्चिंग केंद्र के डायरेक्टर झांग झिफेन ने कहा, बीजिंग एयरोस्पेस कंट्रोल सेंटर की रिपोर्ट के मुताबिक, लॉन्ग मार्च-2 एफ रॉकेट ने शेनझोउ-12 अंतरिक्ष यान को पूर्व निर्धारित कक्षा में भेज दिया है।
  
मिशन के कमांडर नी हैशेंग हैं, जो पहले ही दो अंतरिक्ष मिशनों में भाग ले चुके हैं। दो अन्य भी सेना के सदस्य हैं। यह लगभग पांच सालों में चीन का पहला क्रू मिशन है।

क्या करेंगे एस्ट्रोनॉट्स?
एस्ट्रोनॉट्स अगले तीन महीने तक स्पेस में रहेंगे और चीनी स्पेस स्टेशन का निर्माण कार्य पूरा करेंगे। इसके अलावा वे वैज्ञानिक गतिविधियों को भी देखेंगे।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios