नई दिल्ली. कोरोना की दूसरी लहर के बीच एक तरफ लोग घबराएं हैं वहीं दूसरी तरफ कुछ ऐसे भी लोग हैं जो आगे आकर दूसरों की मदद कर रहे हैं। ऐसा ही दिल्ली पुलिस ने भी किया।  दो ऑक्सीजन टैंकर जल्द से जल्द हॉस्पिटल पहुंचे, इसके लिए दिल्ली पुलिस ने रात में ग्रीन कॉरिडोर बना दिया। मामला पश्चिम विहार का है। बालाजी एक्शन हॉस्पिटल में कोविड के 235 मरीज थे और उनका ऑक्सीजन लेवल एकदम कम हो गया था।

हॉस्पिटल में भर्ती थे 235 मरीज

पश्चिम विहार के बालाजी हॉस्पिटल के एमएस ने पुलिस को सूचित किया कि उनके पास ऑक्सीजन की कमी है और उस वक्त उनके हॉस्पिटल में  235 कोविड के मरीज थे। हॉस्पिटल ने कहा कि 14,000 लीटर और 5,500 लीटर ऑक्सीजन ले जाने वाले दो टैंकर कर्फ्यू के कारण नोएडा और फरीदाबाद बॉर्डर पर फंस गए हैं। 

पुलिस ने दो टीमों को मौके पर भेजा

पुलिस अधिकारियों ने फंसे ऑक्सीजन टैंकरों को बाहर निकालने के लिए तुरंत दो टीमों को दिल्ली-नोएडा बॉर्डर और दिल्ली-फरीदाबाद बॉर्डर पर भेजा। पुलिस ने कहा, हमने तुरंत इमरजेंसी रिस्पांस टीम को परी चौक पर भेजा और साथ ही एक अन्य पुलिस वाहन को बदरपुर बॉर्डर पर भेजा। ग्रीन कॉरिडोर के जरिए दोनों टैंकर समय पर हॉस्पिटल पहुंच गए। 

इस बीच डीसीपी सुधांशु धामा और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने अन्य हॉस्पिटल से बात की और सरोज हॉस्पिटल से 10 ऑक्सीजन सिलेंडर, अग्रसेन हॉस्पिटल से 15 सिलेंडर, ILBS वसंत कुंज से 5 सिलेंडर और फोर्टिस हॉस्पिटल से 10 सिलेंडर भेजा गया। बालाजी एक्शन हॉस्पिटल में पर्याप्त ऑक्सीजन भेजा गया, जिसने 235 गंभीर कोविड रोगियों को बचाया जा सका।