Asianet News Hindi

इमरान के बयान से फंस सकता है PAK? क्योंकि बयान पर विदेश मंत्री कुरैशी ने कहा- इसे छोड़िए, दूसरा सवाल पूछिए

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने अफगानिस्तान में एक टीवी इंटरव्यू दिया। इंटरव्यू में ओसामा बिन लादेन के बारे में इमरान खान के नजरिए पर सवाल पूछा गया। 

Foreign Minister Qureshis response to Imran Khans statement calling bin Laden a martyr kpn
Author
New Delhi, First Published Jun 21, 2021, 3:16 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. साल 2020 में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने देश की संसद नेशनल असेंबली में अल-कायदा के एक्स चीफ ओसामा बिन लादेन को शहीद कहा था। लादेन 2001 में अमेरिका में 9/11 के आतंकी हमलों का मास्टरमाइंड था। अब उनके विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने अफगानिस्तान के एक टीवी समाचार चैनल को दिए इंटरव्यू में इमरान खान को बयान पर हुए सवाल को टाल गए।

ओसामा बिन लादेन को 2011 में अमेरिकी सेना ने गुप्त तरीके से पाकिस्तान में घुसकर मारा था। शाह महमूद कुरैशी से लादेन को लेकर सवाल किया गया तो पहले तो वे थोड़ा टालमटोल करते रहे फिर इसे पास करने का फैसला किया।  

टोलो न्यूज के जर्नलिस्ट लोतफुल्ला नजफिजादा ने कहा, प्रधानमंत्री इमरान खान ने ओसामा बिन लादेन को शहीद कहा था। जवाब में शाह महमूद कुरैशी ने शुरू में कहा था कि ये आउट ऑफ कॉनटेक्स्ट है। जब पत्रकार लोतफुल्ला नजफिजादा लगातार पूछते रहे, क्या वह (ओसामा बिन लादेन) शहीद हैं? आप (इमरान खान के साथ) असहमत हैं? 
 
तब शाह महमूद कुरैशी ने कहा, मैं इसे पास करता हूं।

2020 में इमरान ने लादेन को शहीद कहा था?
जून 2020 में पाकिस्तान की संसद को संबोधित करते हुए इमरान खान ने कहा था, मैं कभी नहीं भूल सकता कि कैसे हम पाकिस्तानी शर्मिंदा थे जब अमेरिकी एबटाबाद में आए और ओसामा बिन लादेन को मार डाला, उसे शहीद कर दिया।

वर्ल्ड ट्रेड सेंटर हमले में 3000 लोग मारे गए थे 
अमेरिका में 9/11 के आतंकी हमले के बाद से अमेरिका ओसामा बिन लादेन का पीछा कर रहा था। न्यूयॉर्क में वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हुए हमलों में लगभग 3,000 लोग मारे गए थे। मई 2011 में अमेरिकी ने ओसामा बिन लादेन को मारने के लिए स्पेशल टीम को एबटाबाद भेजा। जहां लादेन को मारा गया। पाकिस्तान को इस हमले की खबर नहीं थी।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios