Asianet News Hindi

पाकिस्तान में पहली बार कोई हिंदू लड़की बनी असिस्टेंट कमिश्नर, टैलेंट ऐसा कि इससे पहले कर चुकी है MBBS

पाकिस्तान में पहली बार कोई हिंदू लड़की असिस्टेंट कमिश्नर बनी है। सना रामचंद ने सेंट्रल सुपीरियर सर्विस पास कर ये पद हासिल किया। वे एमबीबीएस भी हैं। सना सिंध प्रांत में शिकारपुर जिले के ग्रामीण इलाके से आती हैं। ये पाकिस्तान में सबसे बड़ी हिंदू आबादी वाला इलाका है। 

Hindu girl becomes assistant commissioner for the first time in Pakistan kpn
Author
New Delhi, First Published May 8, 2021, 3:59 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. पाकिस्तान में पहली बार कोई हिंदू लड़की असिस्टेंट कमिश्नर बनी है। सना रामचंद ने सेंट्रल सुपीरियर सर्विस पास कर ये पद हासिल किया। वे एमबीबीएस भी हैं। सना सिंध प्रांत में शिकारपुर जिले के ग्रामीण इलाके से आती हैं। ये पाकिस्तान में सबसे बड़ी हिंदू आबादी वाला इलाका है। 

221 उम्मीदवार हुए पास
पाकिस्तान मीडिया के मुताबिक, सीएसएस की परीक्षा में कुल 18,553 में से 221 उम्मीदवारों ने परीक्षा पास की। रिजल्ट आने के बाद सना रामचंद ने कहा, वाहेगुरु जी की खालसा वाहेगुरु जी की फतेह। मुझे यह बताते हुए खुशी हो रही है कि अल्लाह की कृपा से मैंने सीएसएस 2020 को पास कर लिया है। सारा श्रेय मेरे माता-पिता को जाता है। 

सिर्फ 2 प्रतिशत होते हैं पास
सीएसएस परीक्षा कितनी कठिन होती है इसका अंदाजा इसी बात से लगा सकते हैं कि इसमें कुल कैंडिडेट्स में से सिर्फ 2 प्रतिशत ही पास कर पाते हैं। सना रामचंद ने सिंध प्रांत के चंदका मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस किया और सिविल अस्पताल कराची में काम किया। वह वर्तमान में सिंध इंस्टीट्यूट ऑफ यूरोलॉजी एंड ट्रांसपेरेंट से एफसीपीएस कर रही है और जल्द ही सर्जन बन जाएंगी।

पाकिस्तान में 1.6 प्रतिशत हिंदू
पाकिस्तान में हिंदू आबादी की बात करें तो यहां 1998 में कुल आबादी 13.23 करोड़ थी। उसमें से 1.6 यानी 21.11 लाख आबादी हिंदू थी। 1998 में पाकिस्तान की 96.3 प्रतिशत आबादी मुस्लिम और 3.7 आबादी गैर-मुस्लिम थी। मार्च 2017 में लोकसभा में दिए गए जवाब में बताया गया कि 1998 की जनगणना के मुताबिक पाकिस्तान में हिंदू आबादी 1.6 प्रतिशत है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios