Asianet News HindiAsianet News Hindi

Hindi Diwas 2022: साल में एक नहीं दो बार आता है हिंदी दिवस, मगर दोनों के बीच है बड़ा अंतर, जानिए क्या

Hindi Diwas 2022: विश्व हिंदी दिवस हर साल 10 जनवरी को दुनियाभर के तमाम देशों में बड़े भव्य तरीके से मनाया जाता है, जबकि राष्ट्रीय हिंदी दिवस जिसे हिंदी दिवस भी कहते हैं, इसे हर सााल देशभर में 14 सितंबर को मनाया जाता है। 

on occasion of Hindi Diwas 2022 know all about Vishwa Hindi diwas and Rashtriya Hindi Diwas apa
Author
First Published Sep 12, 2022, 7:25 AM IST

ट्रेंडिंग डेस्क। Hindi Diwas 2022: यह बात शायद बहुत कम लोग जानते हैं कि हिंदी दिवस साल में एक बार नहीं बल्कि, दो बार आता है। हर साल विश्व हिंदी दिवस 10 जनवरी को मनाया जाता है, जबकि राष्ट्रीय हिंदी दिवस 14 सितंबर को मनाया जाता है। इन दोनों ही खास दिनों को मनाने की बड़ी है लोगों में हिंदी के प्रति जागरुकता बढ़ाना और इस प्राचीन भाषा का प्रचार और प्रसार करना। 

विश्व हिंदी दिवस मनाने के पीछे भी रोचक इतिहास है। बात 1975 की है, जब तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने पहले विश्व हिंदी सम्मेलन का उद्घाटन किया था। यह आयोजन भारत के अलावा, मॉरीशस, यूएसए, टोबैगो, त्रिनिदाद, यूनाइटेड किंगडम और फिजी जैसे देशों में हुआ था। इसके बाद यह कुछ समय के लिए फिर बंद हो गया, मगर 2006 में यह फिर शुरू हुआ और अब हर साल 10 जनवरी को विश्व हिंदी दिवस का आयोजन दुनियाभर में भव्य स्तर पर होता है। 

दोनों के बीच क्या है अंतर 
बहुत से लोग इस बात को लेकर उलझन में रहते हैं कि विश्व हिंदी दिवस और हिंदी दिवस यानी राष्ट्रीय हिंदी दिवस के बीच क्या अंतर है और एक ही चीज दो बार क्यों मनाई जाती है। दरअसल, जैसा कि नाम में छिपा है विश्व हिंदी दिवस 10 जनवरी को मनाते हैं और इसका आयोजन दुनियाभर के तमाम देशों में होता है, जबकि हिंदी दिवस, जिसे राष्ट्रीय हिंदी दिवस भी कहते हैं, इसका आयोन देशभर में होता है और यह 14 सितंबर को मनाया जाता है। 

14 सितंबर 1949 से हुई राष्ट्रीय हिंदी दिवस मनाने की पहल 
बता दें कि भारत में हिंदी लोगों की आम भाषा है। भारतीय संविधान सभा ने 14 सितंबर 1949 को इसे राजभाषा के तौर पर दर्जा दिया। इस भाषा के महत्व को बताने के लिए राष्ट्रभाषा प्रचार समिति की ओर से हर साल 14 सितंबर को हिंदी राजभाषा के तौर पर मनाने का अनुरोध किया गया। संविधान निर्माताओं ने हिंदी भाषा के महत्व को बताते हुए इसे संविधान में जगह दी। संविधान में भाग 17 के अनुच्छेद  343 (1) में बताया गया है कि राष्ट्र की राज भाषा हिंदी और लिपि देवनागरी होगी। इसके बाद से ही 14 सिंतबर को हिंदी दिवस मनाने के लिए निर्धारित किया गया। 

चौथी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है हिंदी 
यही नहीं, हिंदी सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा तो है, मगर दुनिया में तीन और भाषाएं ऐसी हैं, जो इससे भी ज्यादा बोली जाती हैं। अंग्रेजी, स्पेनिश और मंदारिन ऐसी भाषाएं हैं, जो हिंदी से भी ज्यादा बोली जाती हैं। हिंदी को भारत के अलावा, नेपाल, तिब्बत, फिजी, अमरीका, मॉरीशस, फिलीपींस, ब्रिटेन, न्यूजीलैंड, सिंगापुर, युगांडा, जर्मनी, दक्षिण अफ्रीका, सूरीनाम, त्रिनीदाद, पाकिस्तान और गुयाना जैसे देशों में भी कुछ-कुछ बदलावों के साथ बोला जाता है। 

हटके में खबरें और भी हैं..

पार्क में कपल ने अचानक सबके सामने निकाल दिए कपड़े, करने लगे शर्मनाक काम 

किंग कोबरा से खिलवाड़ कर रहा था युवक, वायरल वीडियो में देखिए क्या हुआ उसके साथ 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios