Asianet News Hindi

'तारक मेहता..' के राइटर अभिषेक मकवाना ने की खुदकुशी, घरवालों का दावा- जालसाजों से तंग आकर उठाया घातक कदम

मुंबई। पॉपुलर टीवी शो 'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' (Taarak Mehta ka ooltah chashmah) के राइटर अभिषेक मकवाना ने आत्महत्या कर ली है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मामला 27 नवंबर का है। लेकिन इसकी जानकारी अभिषेक के फैमिली मेंबर्स द्वारा किए गए दावे के बाद अब मीडिया में आई है। फैमिली मेंबर्स का कहना है कि अभिषेक ने साइबर फ्रॉड और ब्लैकमेलिंग से तंग आकर खुदकुशी जैसा कदम उठाया है। 

Taarak Mehta Ka Ooltah Chashmah Writer Abhishek Makwana Suicide in His Flat kpg
Author
Mumbai, First Published Dec 4, 2020, 8:06 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई। पॉपुलर टीवी शो 'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' (Taarak Mehta ka ooltah chashmah) के राइटर अभिषेक मकवाना ने आत्महत्या कर ली है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मामला 27 नवंबर का है। लेकिन इसकी जानकारी अभिषेक के फैमिली मेंबर्स द्वारा किए गए दावे के बाद अब मीडिया में आई है। फैमिली मेंबर्स का कहना है कि अभिषेक ने साइबर फ्रॉड और ब्लैकमेलिंग से तंग आकर खुदकुशी जैसा कदम उठाया है। मामला मुंबई के चारकोप पुलिस स्टेशन में दर्ज किया गया है। वहां के एक अधिकारी के मुताबिक, अभिषेक के परिवार ने उन्हें फोन नंबर्स उपलब्ध करा दिए हैं। मृतक के बैंक खाते के ट्रांजेक्शनों की जांच की जा रही है।

Taarak Mehta Ka Ooltah Chashma writer Abhishek Makwana dies by suicide |  Entertainment News,The Indian Express

रिपोर्ट के मुताबिक, 27 नवंबर को अभिषेक का शव उनके मुंबई स्थित फ्लैट में लटका हुआ मिला था। मुंबई पुलिस ने बताया कि अभिषेक ने अपने सुसाइड नोट में आर्थिक संकट के बारे में लिखा है। वहीं, अब उनकी फैमिली का कहना है कि अभिषेक की मौत के बाद उनके पास जालसाजों के फोन आ रहे हैं, जो कह रहे हैं कि अभिषेक ने उन्हें लोन में गारंटर बनाया था। 

रिपोर्ट में अभिषेक के छोटे भाई जेनिस के हवाले से लिखा है- मैंने अपने भाई का मेल चेक किया। क्योंकि उनकी मौत के बाद मेरे पास अलग-अलग नंबरों से कई फोन आए, जिन पर किसी से लोन पर लिया गया पैसा वापस मांगा गया। एक फोन नंबर बांग्लादेश में रजिस्टर्ड है, एक बर्मा में और बाकी देश के अलग-अलग राज्यों में।

तारक मेहता...'चा लेखक अभिषेक मकवानाची आत्महत्या ! सायबर फ्रॉड अन्  ब्लॅकमेलची शिकार झाल्याचा कुटुंबीयांचा आरोप | taarak mehta ka ooltah  chashmahs writer abhishek ...

जेनिश के मुताबिक, ईमेल रिकॉर्ड्स से मुझे समझ आया कि मेरे भाई ने एक ईजी लोन ऐप से लोन लिया था, जिस पर भारी-भरकम ब्याज लगाया गया। मैंने उनके बीच के ट्रांजेक्शन देखे तो पता चला कि मेरे भाई के लोन के लिए अप्लाई न करने के बावजूद वे छोटा-छोटा अमाउंट भेजते रहे। उनकी ब्याज दर बहुत हाई 30 परसेंट है।


 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios