चंदौली (Uttar Pradesh) । कोरोना वायरस को लेकर पूरे देश में लागू लॉक डाउन के चलते दिक्कतें बढ़ गईं हैं। ट्रेनों का संचालन ठप होने से बीच में फंसे यात्री परेशान हैं, क्योंकि 14 अप्रैल तक एक जिले से दूसरे जिले में जाने की भी मनाही है। ऐसे में केरल से बिहार जाने के लिए निकले 16 यात्री झांसी में फंसने की बात सामने आई। हालांकि होटल आदि बंद होने के कारण कई दिनों से भूखे ये लोग घर जाने के लिए पैदल ही रेलवे लाइन पकड़कर निकल पड़े। लेकिन, कुछमन स्टेशन के रेलवे प्लेटफार्म पर पुलिस ने पकड़ लिया। सच्चाई जानने के बाद पुलिस ने भोजन आदि की व्यवस्था कराते हुए इन सभी का चेकअप कराया है। एसपी ने बताया कि इन सभी को अब स्पेशल अनुमति लेकर घर भेजने की तैयारी की जा रही है।

यह है पूरा मामला
कुछमन स्टेशन के रेलवे प्लेटफार्म पर मौजूद 16 युवक बिहार के समस्तीपुर और छपरा के रहने वाले हैं, जो केरल में रहकर मजदूरी का काम करते थे। कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से जब काम-धंधे बंद हुए तो सभी लोग केरल के कालीकट से ट्रेन पकड़ कर अपने घरों के लिए चल पड़े। ट्रेन के माध्यम से यह लोग झांसी पहुंचे। यहां से समस्तीपुर जाने के लिए इन लोगों को दूसरी ट्रेन पकड़नी थी, लेकिन तब तक पूरे देश में भारतीय रेल ने यात्री ट्रेनों का परिचालन रोक दिया था।

झांसी से आ रहे पैदल
झांसी से किसी तरह ये युवक वाराणसी पहुंचे। वाराणसी में भी इनको बिहार जाने के लिए कोई साधन नहीं मिला। कई दिनों से भूखे-प्यासे यह लोग इधर-उधर साधन की तलाश करते रहे। साधन न मिलता देख ये पैदल ही रेलवे ट्रैक के सहारे समस्तीपुर के लिए निकल पड़े। 

एसपी ने कही ये बातें
ये लोग चंदौली के कुछमन स्टेशन के पास पहुंचे थे। इस दौरान चंदौली के एसपी हेमंत कुटियाल को इस बात की जानकारी मिल गई। पुलिस को भेजकर इन 16 युवकों को हिरासत में ले लिया। पुलिस ने इनका मेडिकल चेकअप भी कराया। अब इन सभी के खाने-पीने का इंतजाम कर रही है। एसपी हेमंत कुटियाल ने बताया कि अब इन युवकों को आगे भेजने की तैयारी की जा रही है।