Asianet News HindiAsianet News Hindi

अखिलेश यादव ने कहा, पहले दंगे के आरोपियों से वसूली करे सरकार, फिर CAA का विरोध करने वालों पर हो एक्शन


पूर्व मुख्यमंत्री ने सांसद साक्षी महाराज पर कटाक्ष करते हुए कहा कि वह महाराज नहीं हो सकते। गेरुआ वस्त्रों की ओर इशारा करते हुए कहा कि उसे पहनने से सम्मान नहीं मिलता, कई बार ऐसे वस्त्र धोखा देने के लिए भी पहने जाते हैं। 

Akhilesh Yadav said, first the government should recover from the riot accused, then take action against those opposing CAA
Author
Unnao, First Published Dec 24, 2019, 5:22 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उन्नाव (उत्तर प्रदेश) । समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव मंगलवार को उन्नाव पहुंचे। खुद को आग लगाकर आत्मदाह करने वाली रेप पीड़िता के परिजनों से मुलाकात कर उन्हें सांत्वना दी। साथ ही 25 लाख रुपए की आर्थिक मदद भी की। इस दौरान सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि पहले गोरखपुर में 2007 के दंगे के आरोपियों से सरकार वसूली करें, फिर सीएए का विरोध करने वालों से सरकारी संपत्ति की क्षति की वसूली की जाए।

साक्षी नहीं हो सकते महाराज
पूर्व मुख्यमंत्री ने सांसद साक्षी महाराज पर कटाक्ष करते हुए कहा कि वह महाराज नहीं हो सकते। गेरुआ वस्त्रों की ओर इशारा करते हुए कहा कि उसे पहनने से सम्मान नहीं मिलता, कई बार ऐसे वस्त्र धोखा देने के लिए भी पहने जाते हैं। 

जनता का ध्यान भटका रही सरकार
गरीबों की थाली से प्याज और आलू दूर है और जनता महंगाई को लेकर सरकार को सबक सिखाने के लिए तैयार है। नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी लाकर सरकार जनता का ध्यान भटका रही है और इसके बूते अगला चुनाव लडऩा चाह रही है। कहा, 

अपराधियों को संरक्षण दे रही सरकार
अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश की सरकार अपराधियों को संरक्षण दे रही है। पीडि़तों को न्याय नहीं मिल रहा है, उन्नाव के बिहार और हसनगंज की घटनाएं इसका प्रमाण हैं। अगर न्याय मिला होता तो दुष्कर्म की शिकार बेटियों को जान नहीं गंवानी पड़ती। कहा, सरकार से मृतका के परिवार को 25 लाख की आर्थिक सहायता, सुरक्षा और एक सदस्य को नौकरी की मांग करुंगा।

16 दिसंबर को रेप पीड़िता ने किया था आत्मदाह
उन्नाव में 16 दिसंबर को एसपी ऑफिस के सामने रेप पीड़िता ने आग लगाकर आत्मदाह का प्रयास किया था। गंभीर हालत में पीडि़ता को कानपुर रेफर किया गया था। जहां उसकी 21 दिसंबर को मौत हो गई थी। तीन डॉक्टरों के पैनल ने पीडि़ता का पोस्टमार्टम किया था और पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी भी कराई गई थी। जिसके बाद पीड़िता के शव को 22 दिसम्बर की देर शाम परिजनों ने दफना दिया था। पीड़िता के साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम देने वाले आरोपी को हाईकोर्ट से अग्रिम जमानत मिलने के पीड़िता आहत थी।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios