बहराइच (Uttar Pradesh) । प्रापर्टी और कैश की लालच में सगे भाई ने ही भाई की गला रेतकर हत्या कर दी। मां का आरोप है कि उसने अपने साथियों की मदद से शव घर के कमरे में ही दफना दिया। बेटी के घर से आईं मां ने शक होने पर पुलिस को सूचना दिया तो हत्या का राज खुला। इसके बाद मां की तहरीर पर पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया। आरोप है कि पैसा व जमीन जायदाद हड़पने के लिए उसके बेटे की हत्या कर दी गई। यह मामला हरदी थाना क्षेत्र के जोतचांदपारा के महराजगंज कस्बे का है। 

यह है पूरा मामला
मां मुन्नीदेवी बीते शनिवार को खैरीघाट थाना क्षेत्र के नकाही गांव स्थित अपनी बेटी यहां गई थी। उसके दो बेटे सियाराम व सुरेश घर पर थे। सोमवार को वह वापस लौटी तो उसका एक बेटा सियाराम (28) मौजूद नहीं मिला। काफी खोजबीन के बाद भी पता नहीं चल सका। थाने पहुंच घटना की तहरीर पुलिस दी। पुलिस ने गुमशुदगी का मामला दर्ज कर छानबीन शुरू की। 

इस तरह खुला राज
मां को बेटे सियाराम की हत्या कर शव को घर के कमरे मे दफनाए जाने की शंका हुई। सूचना पर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर खोदाई कराई। तो शक सही निकला। सियाराम का शव घर के अंदर से बरामद हुआ। 

इसलिए की हत्या
पीड़ित मां ने बताया कि मृतक सियाराम कुछ मंदबुद्धि था। एक सप्ताह पूर्व मृतक ने अपने हिस्से की कुछ जमीन बेची थी और पैसा अपने पास रख लिया था। पैसे व जमीन जायदाद को हड़पने के लिए उसके बेटे की हत्या कर दी गई।

आरोपियों को खोज रही पुलिस
एसओ शिवानंद प्रसाद ने बताया कि मुन्नीदेवी की तहरीर पर उसे बेटे सुरेश, बगुली और हरियारा के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। जांच-पड़ताल की जा रही है। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है।