मथुरा (UTTAR PRADESH ). यूपी के मथुरा जनपद में भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) के जिला मंत्री धीरज शर्मा ने अपनी पत्नी के इलाज में कोताही बरतने का आरोप लगाते हुए भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष डॉ. डी पी गोयल, उनके बेटे डॉ. प्रवीण गोयल और बहू डॉ. अनु गोयल के खिलाफ गैरइरादतन हत्या करने का मुकदमा दर्ज कराया है। भाजयुमो नेता की पत्नी की इलाज के दौरान डॉ डीपी गोयल के नर्सिंग होम में मौत हो गयी थी। भाजयुमो कार्यकर्ताओं और परिजनों ने घंटो तक अस्पताल में हंगामा भी किया। 

शुक्रवार की सुबह ऑपरेशन के दौरान भाजयुमो नेता धीरज शर्मा की पत्नी की मौत हो जाने के बाद उनके परिजन एवं कार्यकर्ताओं ने करीब चार-पांच घण्टे अस्पताल में हंगामा किया। बाद में कुछ वरिष्ठ नेताओं के समझाने और पुलिस के हस्तक्षेप के बाद मामला शांत हुआ और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा सका।

बीजेपी नेता के हॉस्पिटल में हुआ था ऑपरेशन 

भाजपा के जिलाध्यक्ष रहे डॉ. डी पी गोयल शहर कोतवाली क्षेत्र के जनरलगंज इलाके में गोपीकृष्ण हॉस्पिटल नाम से नर्सिंग होम चलाते हैं। पांच दिन पूर्व भाजयुमो जिला मंत्री धीरज शर्मा ने अपनी पत्नी लवली उर्फ राखी (30) को पेट में दर्द की शिकायत के चलते दिखाया था। डॉक्टर प्रवीण गोयल एवं डॉक्टर अनु गोयल ने गर्भाशय में कैल्शियम की गांठ होने का कारण बताते हुए ऑपरेशन की सलाह दी। जिसके बाद शुक्रवार की सुबह राखी को ऑपरेशन के लिए अस्पताल में भर्ती करा दिया। जहां इलाज के दौरान राखी की मौत हो गई।

बिना विशेषज्ञ के ही लगा दिया गया बेहोशी का इंजेक्शन

भाजयुमो नेता धीरज शर्मा का आरोप है कि चिकित्सकों ने एनेस्थेशिया विशेषज्ञ की राय लिए बिना ही बेहोशी का इंजेक्शन लगा दिया, जो संभवतः आवेरडोज हो गया और आधा घण्टे बाद ऑपरेशन टेबल पर ही उसकी मौत हो गई। जिसके बाद परिजनों ने जमकर बवाल काटा। 


भाजयुमो नेता की तहरीर पर दर्ज हुआ मुकदमा

भाजयुमो नेता धीरज शर्मा की तहरीर पर डी. पी. गोयल, उनके बेटे प्रवीण गोयल और पुत्रवधू अनु गोयल सहित अस्पताल के स्टाफ के खिलाफ ऑपरेशन में लापरवाही बरतने की रिपोर्ट दर्ज की गई है। करीब पांच घंटे तक चले हंगामे के बाद पुलिस ने अस्पताल के लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया। रिपोर्ट दर्ज होने के बाद राखी के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।