Asianet News HindiAsianet News Hindi

DM ने हाथ में झोला तो कंधे पर बैग लेकर दुकानों पर पहुंचे SSP, महंगा सामान बेचने पर 9 दुकानदारों को भेजा जेल

कोरोना संक्रमण रोकने के लिए वाराणसी पिछले सोमवार 23 मार्च से ही लॉक डाउन है। प्रशासन ने थोक औऱ फुटकर दुकानदारों के लिए जरूरी सामानों के रेट भी तय कर दिए हैं। इसके बाद भी आटा, चावल, दाल, तेल  जैसी चीजों के ज्यादा दाम मांगने की शिकायतें कम नहीं हो रही थीं। ऐसे में कालाबाजारी करने वाले दुकानदारों पर नकेल कसने के लिए सुबह दोनों अधिकारी आम लोगों की तरह खुद दुकानों पर पहुंचे।

DM-SSP reached shops carrying bags, sent 9 shopkeepers to jail for selling expensive goods asa
Author
Varanasi, First Published Mar 31, 2020, 1:44 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

वाराणसी (Uttar Pradesh) । लॉक डाउन के दौरान मुनाफाखोरी और कालाबाजारी की शिकायतें खूब आ रहीं हैं। जिसे गंभीरता से देखते हुए डीएम कौशल राज शर्मा और एसएसपी प्रभाकर चौधरी सुबह आम ग्राहकों की तरह खुद किराना और सब्जी की दुकानों पर सामान खरीदने पहुंच गए। बारी-बारी से कई दुकानों पर सामान का रेट पूछा। जिन दुकानदारों ने तय रेट से ज्यादा कीमत बताई उनके खिलाफ तत्काल कार्रवाई भी शुरू करा दी। अब तक नौ दुकानदारों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है। 

कम नहीं हो रही रेट से ज्यादा लेने की शिकायतें
कोरोना संक्रमण रोकने के लिए वाराणसी पिछले सोमवार 23 मार्च से ही लॉक डाउन है। प्रशासन ने थोक औऱ फुटकर दुकानदारों के लिए जरूरी सामानों के रेट भी तय कर दिए हैं। इसके बाद भी आटा, चावल, दाल, तेल  जैसी चीजों के ज्यादा दाम मांगने की शिकायतें कम नहीं हो रही थीं। ऐसे में कालाबाजारी करने वाले दुकानदारों पर नकेल कसने के लिए सुबह दोनों अधिकारी आम लोगों की तरह खुद दुकानों पर पहुंचे।

इस तरह रेट जानने पहुंचे डीएम और एसएसपी
डीएम लोवर और टी-शर्ट पहने हाथ में झोला लिए और एसएसपी कंधे पर बैग लटकाकर जैतपुरा और चेतगंज की गलियों में स्थित दलहट्टा, मंसाराम फाटक से होते हुए सड़क की कई दुकानों पर बारी-बारी से पहुंचे। इस दौरान जो भी दुकानदार तय रेट से ज्यादा कीमत पर सामान बेचता दिखा उसके खिलाफ कार्रवाई शुरू करा दी गई। दोनों अधिकारियों के पीछे आ रही टीम ने दुकानदारों को हिरासत में लेना शुरू कर दिया। इस तरह नौ लोगों को आटा, फल, सब्जी आदि का अधिक दाम लेते हुए पकड़ा गया है। सभी को गिरफ्तार किया गया और एफआईआर कर जेल भेजा गया।

डीएम और एसएसपी ने की कुछ इस तरह दुकानदारों से बातचीत

ग्राहक.. आटा क्या किलो है..?
दुकानदार.. जी 40 रुपये किलो ,
ग्राहक.. इतना महंगा क्यों दे रहे हो भैय्या अभी तो DM साहब बोले है 25 रुपये किलो है आटा..
दुकानदार.. तो जाइये आप DM साहब से ही खरीद लीजिये...
ग्राहक ... अच्छा चावल कैसे किलो है..?
दुकानदार.... चावल 50 रुपये किलो ....
ग्राहक... भैय्या बहुत महंगा दे रहे हो कुछ कम कर दो
दुकानदार... अब आप जाकर DM साहब से ही खरीदिये हम इससे कम में नही दे पायेंगे..।
फिर ग्राहक ने कहा मैं ही DM हूं....और दुकानदार की सिट्टीपिट्टी गुम हो गई।

ये गए जेल
पुलिस के अनुसार जैतपुरा के सिधवा घाट पर फल दुकानदार राजेंद्र कुमार सोनकर, चेतगंज के जियापुरा में किराना दुकानदार सम्पूर्णानंद, चेतगंज में ही सब्जी दुकानदार सुनील कुमार सिंह, किराना दुकानदार नीरज गुप्ता, किराना दुकानदार बली कादरी, गंगा कावेरी किराना की दुकान का मालिक के मालिक, मंगलम पूजा घर दुकान का मालिक, सत्यम स्टोर दुकान का मालिक और जगदम्बा स्टोर दुकान के मालिक को गिरफ्तार किया गया है। 

अधिकारियों ने कही ये बातें
अधिकारियों के अनुसार इस आपदा काल में जब लोग एक दूसरे की मदद के लिए आगे आ रहे हैं, तब इस तरह का ऊंचे दर पर सामान बेचना शर्मनाक है, जो दुकानदार इस तरह से निर्धारित मूल्य से अधिक दाम पर सामान का बेचगा उसे छोड़ा नहीं जाएगा। सभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेजा जाएगा। आपूर्ति अधिकारी की तरह से तहरीर देकर सभी दुकानदारों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios