Asianet News HindiAsianet News Hindi

बच्ची से रेप कर दरिंदे ने तोड़ दी टांग, दर्द से तड़पती बेटी को पीठ पर लादकर अस्पताल ले गया पिता

पीड़िता की लड़ाई अधिकारियों द्वारा काम को एक-दूसरे पर टालने के बीच खत्म नहीं बल्कि और बढ़ गई। अस्पताल पहुंचने पर पिता को पता चला कि वहां पर एक्सरे मशीन काम नहीं कर रही है। 

father carries allegedly harassed daughter on back  in etah because no stretcher available kpt
Author
Etah, First Published Dec 20, 2019, 1:52 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

एटा. सामने आने के बाद पिता दर्द से तड़पति बच्ची को अस्पताल लेकर पहुंचा तो वहां स्ट्रेचर ही नहीं मिला। इसके बाद बेबस पिता बच्ची को पीठ पर लादकर अस्पताल के वॉर्ड लेकर गया। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है।

टाइम्स ऑफ़ इंडिया की खबर के मुताबिक़, 15 साल की लड़की का उसके पड़ोसी ने बलात्कार किया। बचकर भागने की कोशिश में लड़की का पैर भी टूट गया। रिपोर्ट के मुताबिक 19 साल के आरोपी की पहचान अंकित यादव के रूप में हुए है। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

पिता ने दर्द से कराहती बेटी को पीठ पर उठा लिया

घटना के बाद विक्टिम के पिता एक महिला कॉन्स्टेबल के साथ उसे अस्पताल लेकर पहुंचे थे। वन स्टॉप सेंटर, जो घरेलू हिंसा या यौन हिंसा की विक्टिम्स के लिए खासतौर पर बनाया गया है। वहां जरूरी फॉर्म्स भरने के बाद लड़की को महिला अस्पताल लेकर जाना था, लेकिन उस वन स्टॉप सेंटर में कोई व्हीलचेयर या स्ट्रेचर उपलब्ध नहीं था। आखिर हारकर पिता ने बेटी को अपनी पीठ पर उठाया और अस्पताल ले गए। इसी का वीडियो 17 दिसंबर की शाम से वायरल हो गया।

सवाल उठने पर एक-दूसरे पर टालने लगे अधिकारी 

वीडियो वायरल होने के बाद लोगों ने सरकार और प्रशासन पर सवाल उठाए। जब बात सरकारी अधिकारियों पर आई तो जिम्मेदारी को लेकर टाम-मटोल शुरू हो गई। एटा के चीफ मेडिकल ऑफिसर अजय अग्रवाल ने कहा, जांच करने पर पता चला कि नए सेंटर में स्टाफ़ या स्ट्रेचर नहीं है, मैंने वन स्टेप सेंटर के इंचार्ज डिस्ट्रिक्ट प्रोबेशन ऑफिसर से कहा है कि मेरे ऑफिस को चिट्ठी लिखें, ताकि स्ट्रेचर और व्हीलचेयर उपलब्ध कराए जा सकें।

अधिकारी ने अभी तक सेंटर का चार्ज नहीं लिया

डिस्ट्रिक्ट प्रोबेशन ऑफिसर ने बताया कि, वन  स्टेप सेंटर डिस्ट्रिक्ट सोशल वेलफेयर ऑफिसर रश्मि यादव के अंडर आता है, उनको ही शिकायत की जानी चाहिए, तो रश्मि यादव का कहना था कि उन्होंने अभी तक उस सेंटर का चार्ज नहीं लिया है।

अस्पताल में एक्सरे मशीन खराब निकली

पीड़िता की लड़ाई अधिकारियों द्वारा काम को एक-दूसरे पर टालने के बीच खत्म नहीं बल्कि और बढ़ गई।  अस्पताल पहुंचने पर पिता को पता चला कि वहां पर एक्सरे मशीन काम नहीं कर रही है। मुख्यमंत्री ऑफिस ने जब बाबत संज्ञान लिया, तब बेटी और पिता को अलीगढ़ अस्पताल भेजा गया। यहां बच्ची का इलाज चल रहा है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios