Asianet News Hindi

अपनी ही गाड़ी में आग लगाकर जिला मुख्यालय के सामने किया हंगामा, युवक और महिला गिरफ्तार

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, ‘‘युवक और महिला दोनों बीच-बीच में एक लाइसेंसी पिस्तौल और अवैध तमंचे से गोलियां दाग रहे थे, जिससे माहौल तनावपूर्ण हो गया।

Firing in front of District Headquarter, a man and a woman arrested
Author
Mathura, First Published Sep 26, 2019, 4:01 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मथुरा (Mathura). प्रदेश के मथुरा जनपद में एक युवक और उसके कार में अपने तीन बच्चों को लेकर आई महिला ने जिला मुख्यालय में हंगामा किया। बताया जाता है कि अपने कर्ज का बकाया नहीं वसूल पाने के कारण युवक अवसाद में था और महिला का उसके पति के साथ संपत्ति को लेकर विवाद चल रहा था, जिसमें युवक उसकी मदद कर रहा था। बहरहाल करीब 45 मिनट चले इस हाईवोल्टेज ड्रामा के चलते आगरा-मथुरा मार्ग पर आवागमन ठप रहा।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, ‘‘युवक और महिला दोनों बीच-बीच में एक लाइसेंसी पिस्तौल और अवैध तमंचे से गोलियां दाग रहे थे, जिससे माहौल तनावपूर्ण हो गया। बीच-बीच में युवक केंद्र एवं राज्य सरकार को भ्रष्ट और सुस्त बताते हुए कोस रहा था और न्याय नहीं मिलने की बात कह रहा था।’’

युवक की पहचान औरंगाबाद के रहने वाले बीएसएफ में हवलदार विक्रम सिंह के पुत्र शुभम चौधरी और महिला की पहचान लक्ष्मीनगर, यमुनापार निवासी विनय शर्मा की पत्नी अंजुला शर्मा के तौर पर हुई है।

गाड़ी में लगी आग बुझाने गए पुलिसकर्मियों को देख युवक और महिला ने गोलियां चलानी शुरू की
उन्होंने बताया, ‘‘युवक और महिला तीन बच्चों के साथ कार से उतरे और उन्होंने कार पर गोली चलाकर उसमें आग लगा दी, जिससे अदालती कार्यवाही में जुटे वकील और अन्य लोगों में अफरा-तफरी मच गई।घटना सिविल लाइंस पुलिस चौकी के सामने हुई थी, जिसे देखकर पुलिसकर्मियों ने जब आग बुझाने की कोशिश की तो युवक ने गोलियां चलानी शुरू कर दी। तमंचा पकड़े महिला भी उसका साथ दे रही थी। दोनों ने करीब 45 मिनट तक हंगामा किया।’’

खुद को गोली मारने की धमकी दे रहे थे दोनों
उन्होंने बताया कि लोगों ने जब उन्हें शांत कराने की कोशिश की तो उन्होंने खुद को और बच्चों को गोली मारने की धमकी दी। हालांकि बाद में कुछ वकीलों ने फरियाद सुनने के बहाने उसे पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने बताया, ‘‘प्रारम्भिक जांच एवं युवक की मां से पता चला कि वह एक फायनेंस कंपनी चलाता है जिसका काफी रुपया महिला के पति विनय शर्मा तथा धौलीप्याऊ क्षेत्र की चंद्रपुरी कॉलोनी निवासी मनीष नाम के युवक पर बकाया था। कुछ और लोगों पर भी उसका रुपया बकाया था, जो वापस नहीं मिल पाने से वह अवसाद में था। वहीं महिला का भी अपने पति से संपत्ति को लेकर विवाद चल रहा था जिसमें युवक उसकी मदद कर रहा था।’’

अब हैं जेल में बंद 
एसएसपी ने बताया, ‘‘फिलहाल, हथियारों के बल पर अराजकता फैलाने के आरोप में शुभम चौधरी एवं अंजुला शर्मा के खिलाफ आईपीसी की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज कर उन्हें जेल भेज दिया गया है। दोनों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) एवं अन्य कठोर दण्डात्मक कानूनों के तहत भी कार्यवाही की जाएगी।’’

 

[यह खबर समाचार एजेंसी भाषा की है, एशियानेट हिंदी टीम ने सिर्फ हेडलाइन में बदलाव किया है]

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios