Asianet News HindiAsianet News Hindi

इस लव मैरिज का खौफनाक अंत, जेल में बंद पति ने इस तरह करवा दी बीवी की हत्या


हत्या को आत्महत्या का रंग देने के लिए उसके शव को रेलवे ट्रैक के किनारे फेंक दिया। नूरी की शिनाख्त होने के बाद पुलिस ने जब कॉल डिटेल निकाली तो 24 फरवरी को कई बार उसकी अपनी ननद, ननदोई से बातचीत का खुलासा हुआ। शक के आधार पर पुलिस ने फूलबानो और शबाब से सख्ती से पूछताछ की तो पूरे मामले का खुलासा हुआ।

Jailed husband got his wife murdered asa
Author
Lucknow, First Published Mar 4, 2020, 7:09 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp


लखनऊ (Uttar Pradesh) । नूरी हत्याकांड की साजिश उसके पति सुल्तान ने जेल से ही रची थी। मलिहाबाद पुलिस ने नूरी की ननद, ननदोई और एक अन्य को गिरफ्तार कर वारदात का राजफाश किया है। अवैध संबंधों के शक में सुल्तान के कहने पर आरोपियों ने नूरी की हत्या की थी। उन्होंने बताया कि सुल्तान ने नूरी से प्रेम विवाह किया था। नूरी को यह नहीं पता था कि सुल्तान अपराधिक प्रवृत्ति का है। पति की हरकतों की जानकारी मिलने के बाद नूरी ने सुल्तान से दूरी बना ली थी। इस बीच सुल्तान को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। प्लान के तहत पेशी के बाद उसकी हत्या कर दी गई थी।

ये है मामला
वजीरगंज निवासी नूरी का शव मलिहाबाद के फरीदीपुर गांव के पास रेलवे लाइन पर 24 फरवरी को मिला था, जिसकी हत्या की गई थी। पुलिस के मुताबिक छानबीन में सामने आया कि सुल्तान जेल में बंद था और वह पत्नी पर शक करता था। सुल्तान ने नूरी से प्रेम विवाह किया था। नूरी को यह नहीं पता था कि सुल्तान अपराधिक प्रवृत्ति का है। पति की हरकतों के बारे में जानकारी मिलने के बाद नूरी ने सुल्तान से दूरी बना ली थी। इस बीच सुल्तान को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। पत्नी पर दूसरे युवक से अवैध संबंध का शक होने के कारण सुल्तान ने अपने बहनोई शब्बू और बहन फूलबानो से हत्या को अंजाम देने के लिए कहा था। शब्बू ने इस काम के लिए अपने दोस्त जुनैद उर्फ रऊफ को शामिल किया था।

इस तरह प्लान कर किया हत्या
सीओ मलिहाबाद नईम उल हसन के मुताबिक सुल्तान को अपनी पत्नी नूरी के कहीं और अवैध संबंधों का शक था। सुल्तान ने ये बात अपनी बहन फूलबानो और बहनोई शबाब को बताई। इसके बाद सुल्तान ने जेल के अंदर से ही नूरी की हत्या की साजिश रची। प्लान के तहत 24 फरवरी को जब सुल्तान पेशी पर कोर्ट आया था तो उसने अपनी बहन फूलबानो, बहनोई शबाब, दोस्त जुनैद और पत्नी नूरी को बुलाया। पेशी के बाद फूलबानो ने नूरी को अपने साथ हरदोई चलने को कहा। जुनैद और शबाब एक बाइक पर सवार हुए जबकि फूलबानो को नूरी ने अपनी स्कूटी पर बिठा लिया। दिन भर घूमने के बाद शाम को मलिहाबाद के फरीदीपुर इलाके में एक आम के बाग के पास तीनों ने मिलकर नूरी की हत्या कर दी।

इस तरह खुला राज
हत्या को आत्महत्या का रंग देने के लिए उसके शव को रेलवे ट्रैक के किनारे फेंक दिया। नूरी की शिनाख्त होने के बाद पुलिस ने जब कॉल डिटेल निकाली तो 24 फरवरी को कई बार उसकी अपनी ननद, ननदोई से बातचीत का खुलासा हुआ। शक के आधार पर पुलिस ने फूलबानो और शबाब से सख्ती से पूछताछ की तो पूरे मामले का खुलासा हुआ। पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। पुलिस ने मृतका की स्कूटी भी टूटी-फूटी हालत व टुकड़ों में बरामद की है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios