Asianet News HindiAsianet News Hindi

लखीमपुर कांड: ड्राइवर पर कहर बनकर टूटी भीड़, चीख-चीखकर बोला- छोड़ दो मर जाऊंगा..और थम गईं सांसे

वह हाथ जोड़कर अपनी जिंदगी की भीख मांगता रहा। उसके सिर से खून निकल रहा है। वह घबराया हुआ है और हाथ जोड़कर कह रहा है, 'दादा-दादा,छोड़ दो।

Lakhimpur violence, Ajay Mishra Teni's driver dies in mob lynching
Author
Lakhimpur Kheri, First Published Oct 4, 2021, 6:46 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखीमपुर : लखीमपुर में बवाल के बाद राजनीतिक गलियारों में सरगर्मी तेज हैं। केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र के बेटे आशीष मिश्रा पर हत्या का केस दर्ज हो गया है। उन पर और उसके समर्थकों पर प्रदर्शन कर रहे किसानों पर गाड़ियां चढ़ाने का आरोप है। इस बीच एक वीडियो सामने आया है, जिससे सियासी पारा और भी ज्यादा हाई हो गया है। वीडियो में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा (Ajay Mishra) के ड्राइवर की भीड़ पिटाई कर रही और वह रहम की भीख मांग रहा है। इतना ही नहीं भीड़ उससे यह भी उगलवा रही है कि लोगों को कुचलने के लिए टेनी ने ही कार भेजी थी। खून से लथपथ ड्राइवर लगातार जान की भीख मांगता रहा लेकिन बेरहम भीड़ ने पीट-पीटकर उसकी हत्या कर दी।

वह घबराया था, रहम की भीख मांग रहा था
टेनी के ड्राइवर की पिटाई का यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वह हाथ जोड़कर अपनी जिंदगी की भीख मांगता रहा। उसके सिर से खून निकल रहा है। वह घबराया हुआ है और हाथ जोड़कर कह रहा है, 'दादा-दादा,छोड़ दो।' डंडे से उसकी पिटाई कर रही भीड़ में से कुछ लोग उससे पूछ रहे हैं कि उसे किसने भेजा है, टेनी ने.. लोग उससे जबरन कहलवा रहे हैं कि कहो कि टेनी ने लोगों को मारने के लिए भेजा था, गाड़ी चढ़ाने के लिए कहा था। लोग उसे डंडा दिखाते हैं और जबरन मनमानी बात कहने के लिए कहते हैं। इस बीच भीड़ से कुछ लोग ड्राइवर पर डंडे लेकर टूट पड़ते हैं। वह हाथ जोड़कर छोड़ने के लिए गिड़गिड़ाता है, लेकिन उसकी कोई नहीं सुनता। किसी का दिल नहीं पसीजा और उसकी हत्या कर दी गई।

इसे भी पढ़ें-UP: बुरे फंसे मोदी के मंत्री अजय मिश्रा, सियासत से पहले लड़ते थे कुश्ती, दबंगई ऐसी कि खुले मंच से धमका देते 

राज्यमंत्री अजय मिश्रा के बेटे पर हत्या का केस दर्ज
लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के बाद केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे आशीष मिश्र के खिलाफ FIR दर्ज हुई है। आशीष मिश्र पर हत्या और गैर इरादतन हत्या की धारा में मामला दर्ज किया गया है। इसके साथ ही नामजद आशीष मिश्र मोनू और 15-20 अज्ञात के खिलाफ धारा 147, 148, 149, 302, 130 बी, 304 ए के तहत केस दर्ज किया गया है।

क्या है लखीमपुर खीरी मामला
रविवार को कृषि कानूनों और केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र की टिप्पणी का विरोध कर रहे किसानों और मंत्री के बेटे के बीच हिंसक झड़प हो गई। तिकुनिया कस्बे में हुए इस बवाल के दौरान मंत्री के बेटे आशीष मिश्र की गाड़ी से कुचलकर चार किसानों और पांच अन्य लोगों की मौत हो गई और कई घायल हो गए। किसानों ने जानबूझकर गाड़ी चढ़ाने का आरोप लगाते हुए मंत्री के बेटे की दो गाड़ियों में तोड़फोड़ करते हुए आग लगा दी। मंत्री के बेटे ने खेतों में भागकर जान बचाई, लेकिन इस दौरान हुई पिटाई से उसके ड्राइवर की मौत हो गई।

इसे भी पढ़ें-75 शादियां कर चुका ये शख्स, 200 विदेशी लड़कियों की जिंदगी की तबाह..आरोपी ने बयां की चौंकाने वाली कहानी

अजय अजय मिश्र ने क्या कहा था
पूर् मामले की शुरुआत 26 सितंबर उस वक्त से हुई जब किसानों ने केंद्रीय राज्यमंत्री अजय मिश्र को लखीमपुर में संपूर्णानगर क्षेत्र में काले झंडे दिखाए। मिश्र एक जनसभा को संबोधित करने जा रहे थे। जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने खुद के विरोध का जिक्र किया और मंच से कहा कि अगर हम गाड़ी से उतर जाते तो उन्हें भागने का रास्ता नहीं मिलता। कृषि कानून को लेकर केवल 10-15 लोग शोर मचा रहे हैं। यदि कानून इतना गलत है तो अब तक पूरे देश में आंदोलन फैल जाना चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि सुधर जाओ, नहीं तो सामना करो, वरना हम सुधार देंगे दो मिनट लगेंगे। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios