Asianet News Hindi

प्रेमी युगल के घरवाले नहीं थे राजी, पुलिस ने थाने में करा दी शादी, ये है 8 साल की लव स्टोरी

मनीष, किरण से शादी के लिए अड़ा हुआ था। किरण के परिवार ने मनीष के खिलाफ लखनऊ के महिला थाने में अर्जी भी दे रखी थी। उसी मामले में मनीष और किरण 17 फरवरी को महिला थाने पहुंचा, लेकिन उसके साथ किरण भी थी। महिला थाने की प्रभारी इंस्पेक्टर शारदा चौधरी ने दोनों की कहानी सुनी।

Lover couple's family members were not ready, police got married in police station asa
Author
Lucknow, First Published Feb 18, 2020, 9:46 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ (Uttar Pradesh) । परिवार वालों ने प्रेमी युगल की शादी में अड़ंगा लगाया तो पुलिस उनकी मददगार बनकर सामने आई। युगल की शादी को लेकर लड़की के परिवार वाले नाराज थे। वह नहीं चाहते थे कि दोनों की शादी एक दूसरे से हो। परिजनों का रुख देखते हुए प्रेमी जोड़े ने पुलिस थाने का रुख किया। थाने पहुंचकर दोनों ने पुलिस को इस बात की जानकारी दी कि वह राजी खुशी एक दूसरे से शादी करना चाहते हैं। पुलिस कमिश्नरी लखनऊ के महिला थाने में 17 फरवरी को आपसी रजामंदी के साथ दोनों शादी करवाई गई।

ये है प्रेमी युगल की लव स्टोरी
महानगर की रहने वाली किरण कनौजिया और बालागंज के मनीष कनौजिया की शादी महिला थाने में हुई। किरण कनौजिया बीटेक की छात्रा हैं तो ग्रेजुएट मनीष प्राइवेट नौकरी के साथ पढ़ाई कर रहा है। करीब आठ साल पहले बालागंज के रहने वाला मनीष को अपने ननिहाल महानगर आने-जाने के दौरान उसी मोहल्ले में रहने वाली किरण से प्रेम हो गया था। तमाम उतार-चढ़ाव के बीच यह संबंध पिछले आठ साल से बरकरार था। शादी की बात भी चलाई गई, लेकिन किरण के परिवार वाले इस रिश्ते पर राजी नहीं थे।

इस तरह पहुंचे थाने
मनीष किरण से शादी के लिए अड़ा हुआ था। किरण के परिवार ने मनीष के खिलाफ लखनऊ के महिला थाने में अर्जी भी दे रखी थी। उसी मामले में मनीष और किरण 17 फरवरी को महिला थाने पहुंचा, लेकिन उसके साथ किरण भी थी। महिला थाने की प्रभारी इंस्पेक्टर शारदा चौधरी ने दोनों की कहानी सुनी।

पुलिस ने इस तरह कराई शादी
दोनों शादी के लिए राजी थे, इस पर किरण और मनीष के परिवारों को भी इंस्पेक्टर ने थाने बुला लिया। थोड़ी कहासुनी के बाद दोनों परिवार शादी के लिए तैयार हो गए, हालांकि, किरण के परिवार का कहना था कि शादी के बाद किरण को अपनी ससुराल यानी मनीष के घर में रहना होगा। किरण का परिवार उसे अपने साथ रखने को फिलहाल राज़ी नहीं हुआ। महिला थाना इंस्पेक्टर ने अधिकारियों को इसकी जानकारी दी और दोनों परिवारों की सहमति से विवाद को सुलझाया गया और थाना परिसर में ही किरण मनीष की शादी करवा दी गई।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios