अमेठी(Uttar Pradesh). रोजी रोटी के लिए खाड़ी देश में गए युवक ने वीडियो जारी कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और अमेठी की सासंद स्मृति ईरानी से मदद की गुहार लगाई है। उसने वहां से एक वीडियो जारी कर बताया कि उसे ना तनख्वाह दी जा रही है और ना ही खाना। मालकिन उसे प्रताड़ित कर रही है। पीड़ित ने वीडियो में प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री और अमेठी की सांसद से मार्मिक अपील करते हुए कहा है कि प्लीज मोदी जी, प्लीज योगी जी, प्लीज स्मृति जी हमारी मदद करिए।

अमेठी के फुसरतगंज थाना क्षेत्र का रहने वाल मोहम्मद अनीस ड्राइवर वीजा पर बीते 18 जनवरी को मुंबई से कुवैत पहुंचा था। मुंबई में उसे एजेंटों ने यह वीजा दिया था, कुवैत पहुंचने पर उससे घर की साफ-सफाई का काम लिया जाने लगा। छह महीने तक उसने ये प्रताड़ना बर्दाश्त की लेकिन जब सहनशक्ति खत्म हो गई तब अनीस ने एक वीडियो जारी किया है। वीडियो में वो आपबीती बताते हुए कहा रहा है कि 18 जनवरी को वह कुवैत पहुंचा था। उसे एजेंटों ने फंसा दिया। सर, ना यहां मुझे खाना दिया जाता है, ना तनख्वाह दी जाती है। मैं मर जाऊंगा। मुझे यहां पुलिसवाले इतना मारते हैं कि अब जीने की इच्छा खत्म हो गई है। लेकिन अभी मेरी पत्नी को एक लड़का हुआ है, मैंने अपने नवजात बेटे की शक्ल नहीं देखी है।

वीडियो जारी कर बोला, सबसे प्यारा है हमारा हिंदुस्तान 
वीडियो में अनीस कहता दिख रहा है, मैं अपने देश भारत वापस आना चाहता हूं, मुझे अपना हिंदुस्तान बहुत प्यारा है। हमारे प्रधानमंत्री मोदी, मुख्यमंत्री योगी गरीबों की बहुत मदद करते हैं, सांसद स्मृति ईरानी से अपील है कि मुझे यहां से निकाला जाए। मैने कंप्लेंट भी किया है लेकिन यहां मेरी सुनवाई नहीं हो रही। मेरी कफील बोलती है कि तुम फांसी लगाकर मर जाओ, तुम्हे मैं कचरे के डिब्बे में फिकवा दूंगी। लेकिन वापस इंडिया नहीं जाने दूंगी। इंडिया की सरकार मेरा कुछ नहीं कर पाएगी। प्लीज मोदी जी, प्लीज योगी जी, प्लीज स्मृति जी मेरी मदद की जाए। मेरे पिता से संपर्क किया जाए, मुझे लेकर वो बहुत परेशान हैं। हर जगह चक्कर लगा रहे हैं।

अनीस की पत्नी का रो-रो कर है बुरा हाल 
कुवैत से वीडियो जारी करने वाले अनीस के पिता मोहम्मद अमीन ने बताया कि 18 जनवरी से बेटे ने ड्यूटी ज्वाइन की है तभी से उसे प्रताड़ित किया जा रहा है। उससे चौबीसों घंटे काम लिया जा रहा है। तनख्वाह नहीं दी जा रही, एक-एक हफ्ते तक खाना नहीं दिया जाता। मेरा बेटा मौत के कगार पर है। अनीस की पत्नी सफीना बानो का रो-रो कर बुरा हाल है। वह बताती हैं कि उसकी चार साल की एक बेटी आरीफा है, और गोद में एक माह का बच्चा है। पति अनीस से रोज बात हो रही है। पति यही कहते हैं कि मुझे बुलवा लो वरना यह लोग मार डालेंगे।