Asianet News Hindi

मिड डे मील का हाल: 1Kg. चावल से भरा गया 32 बच्चों का पेट, 400ml दूध से बनाई जा रही सेहत

यूपी के सरकारी स्कूलों में बच्चों को दिए जाने वाले मिड डे मील में कमियों को लेकर अक्सर खबरे सामने आती रहती हैं। हाल ही में यूपी के सोभद्र जिले के एक स्कूल में एक लीटर दूध में एक बाल्टी पानी मिलाकर 81 बच्चों को पिला दिया गया था। इस बार मामला यूपी के मिर्जापुर के एक स्कूल का है। यहां एक किलो चावल की तहरी बनाकर 32 बच्चों में अटा दी गई। यही नहीं, 400 मिलीलीटर दूध में सभी बच्चों का पेट भरा गया।
 

negligence in mid day meal mirzapur KPU
Author
Mirzapur, First Published Feb 27, 2020, 7:06 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मिर्जापुर (Uttar Pradesh). यूपी के सरकारी स्कूलों में बच्चों को दिए जाने वाले मिड डे मील में कमियों को लेकर अक्सर खबरे सामने आती रहती हैं। हाल ही में यूपी के सोभद्र जिले के एक स्कूल में एक लीटर दूध में एक बाल्टी पानी मिलाकर 81 बच्चों को पिला दिया गया था। इस बार मामला यूपी के मिर्जापुर के एक स्कूल का है। यहां एक किलो चावल की तहरी बनाकर 32 बच्चों में अटा दी गई। यही नहीं, 400 मिलीलीटर दूध में सभी बच्चों का पेट भरा गया।

क्या है पूरा मामला
मामला मझवां विकास खंड के पूर्व माध्यमिक विद्यालय बरैनी का है। बुधवार को मिड डे मील (एमडीएम) के मंडलीय समन्वयक राकेश तिवारी ने इस विद्यालय का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने पाया कि स्कूल में 68 की बजाय 32 बच्चे उपस्थित थे। जिनके लिए मिड डे मील के तहत एक किलो चावल से तहरी बनाई गई थी। साथ ही 400 मिली लीटर दूध बांटा गया। जबकि मानक कहता है कि 4.800 किलोग्राम चावल और 6.300 लीटर दूध का वितरण होना चाहिए।

पहले भी दी जा चुकी है चेतावनी, फिर भी नहीं सुधरे हालात
राकेश तिवारी ने कहा, इससे पहले भी इस विद्यालय का कई बार निरीक्षण किया गया। हेड मास्टर तेजू को मानक और मैन्यू के अनुसार मध्याह्न भोजन, दूध, फल वितरण करने के लिए कहा गया, लेकिन उनके द्वारा कोई सुधार नहीं किया गया। वहीं, प्रभारी उपायुक्त एमडीएम चंद्रशेखर आजाद ने कहा, एमडीएम की जांच की जा रही है। अगर कहीं कोई अनियमितता होती है तो उसकी जांच की जाएगी। साथ ही संबंधित के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios