Asianet News Hindi

पीएम मोदी ने कोरोना वैक्‍सीनेशन को लेकर वाराणसी के स्वास्थ्य कर्मियों से की बात, जानिए किसने क्या दिया फीडबैक

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि पहले लोग ये सवाल कर रहे थे कि वैक्सीन कब आएगा। लेकिन, हमने यह निर्णय लिया कि हमारे वैज्ञानिक जो कहेंगे, वहीं हम करेंगे। क्योंकि, किसी भी वैक्सीन को बनाने के पीछे हमारे वैज्ञानिकों की कड़ी मेहनत होती है, इसमें वैज्ञानिक प्रक्रिया होती है। वैक्सीन के बारे में निर्णय करना राजनीतिक नहीं होता, हमने तय किया था कि जैसा वैज्ञानिक कहेंगे, वैसे ही हम करेंगे।
 

PM Modi talks to health workers of Varanasi, know who gave feedback asa
Author
Varanasi, First Published Jan 22, 2021, 3:11 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

वाराणसी (Uttar Pradesh)। कोरोना वैक्‍सीनेशन को लेकर चल रहे अभियान के बीच आज दोपहर टीकाकरण सत्र के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के तीन केंद्रों पर 5 लोगों से वर्चुअल संवाद किया। इनमें महिला अस्पताल में मैट्रन पुष्पा देवी और वैक्सिनेटर रानी गौड़ श्रीवास्तव, जिला अस्पताल में सीएमएस डा. वी शुक्ला, एसएलटी रमेश चंद्र, सीएचसी सेवापुरी में तैनात एएनएम श्रृंखला चौहान शामिल थी। इनसे वर्चुअल संवाद के दौरान पीएम ने उनसे कोविड-19 के वैक्सीनेशन को लेकर फीडबैक लिया। साथ ही उनके माध्मय से देश की जनता को बताने का पूरा प्रयास किया कि टीकाकरण से किसी प्रकार की दिक्कत नहीं हो रही है।

 

वैज्ञानिकों की बात बनाकर काम किए पीएम
पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि पहले लोग ये सवाल कर रहे थे कि वैक्सीन कब आएगा। लेकिन, हमने यह निर्णय लिया कि हमारे वैज्ञानिक जो कहेंगे, वहीं हम करेंगे। क्योंकि, किसी भी वैक्सीन को बनाने के पीछे हमारे वैज्ञानिकों की कड़ी मेहनत होती है, इसमें वैज्ञानिक प्रक्रिया होती है। वैक्सीन के बारे में निर्णय करना राजनीतिक नहीं होता, हमने तय किया था कि जैसा वैज्ञानिक कहेंगे, वैसे ही हम करेंगे।

सामान्य इंजेक्शन की तरह है कोरोना की वैक्सीन
पीएम ने महिला अस्पताल की मैट्रन पुष्‍पा देवी से बातचीत की। जिन्होंने बताया कि टीकाकरण को लेकर हम सभी उत्साहित हैं। हमें गर्व है कि भारत ने स्वदेशी कोविड वैक्सीन बनाने में विकसित देशों को भी पीछे छोड़ दिया है। मैं बताना चाहूंगी कि जैसा अन्य इंजेक्शन लगा वैसे ही मुझे लगा। इसे सभी को लगवाना चाहिए, क्योंकि मैंने भी लगवाया और मुझे कोई दिक्कत नहीं है।

मुझे लोग दे रहे आशीर्वाद
कबीर चौरा वैक्सिनेटर और एनएम रानी गौड़ श्रीवास्तव रानी ने कहा कि मैं अपने को बहुत खुद किस्मत समझ रही हूं कि मुझे इंजेक्शन लगाने का अवसर मिला। ये इंजेक्शन लगवाने वाले पीएम के साथ-साथ मुझे भी आशीर्वाद दे रहे हैं। 

पूरी तरह सुरक्षित है इंजेक्शन
पंडित दीन दयाल उपाध्याय जिला अस्पताल में सीएमएस डा. वी शुक्ला क्या शुक्ला से पीएम पीएम मोदी ने पूछा शुक्ला नमस्कार, हमारे काशीवासी खुशी हैं। जिसके बाद वैक्सीनेशन के बारे में बातचीत की। इस दौरान सीएमएस ने बताया कि यदि इंजेक्शन लगवाने के बाद सर्दी,जुखाम आ भी आए तो घबड़ाने की बात नहीं है। इंजेक्शन पूरी तरह से सुरक्षित है। उन्होंने बताया कि 10 लाख लोगों को अब तक टीका लग चुका है। 

इंजेक्शन लगवाने से नहीं होती दिक्कत
जिला अस्पताल के सीनियर एसएलटी रमेश चंद्र ने कहा कि पूरे उत्साह के साथ स्वास्थ्य कर्मी टीकाकरण करा रहे हैं। इंजेक्शन उन्होंने भी लगवाया है। उन्हें किसी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं है , ये सामान्य इंजेक्शन की ही तरह है।

इंजेक्शन लगवाने के बाद की टीकाकरण
सीएचसी कबीरचौरा में एएनएम श्रृंगखा चौहान- पहले ही चरण में उन्होंने इस इंजेक्शन को लगवाया था, इसके बाद ही 87 लोगों को टीका भी लगाई। उन्हें किसी प्रकार की दिक्कत नहीं महसूस हुई।  

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios