Asianet News HindiAsianet News Hindi

वाराणसी के रोहनिया सीट से राजेश्वर पटेल लड़ेंगे चुनाव, कहा- काम के बल पर पार्टी ने दी है टिकट

राजेश्वर पटेल ने कहा कि हमारे क्षेत्र में बहुत सी समस्याएं हैं मैं एक खिलाड़ी हूं और इसी क्षेत्र का रहने वाला हूं बचपन से मैं इसी इलाके में घूम-घूम कर खेला हूं । मैं क्षेत्र की हर समस्याओं से अवगत हूं। रोहनिया विधानसभा गंगा के किनारे हैं । इस गांव में बाढ़ की समस्या हैं। हमारे इस विधानसभा का अधिकतर क्षेत्र कृषि क्षेत्र है। और इस क्षेत्र में आवारा पशुओं की संख्या बहुत अधिक है आवारा पशुओं से समस्या को हल करना मेरी प्रथम प्राथमिकता रहेगी। 
 

Rajeshwar Patel will contest from Rohaniya seat of Varanasi said party has given ticket on the basis of work
Author
Lucknow, First Published Jan 14, 2022, 11:24 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

वाराणसी: कांग्रेस (Cogress) पार्टी ने आज 125 उम्मीदवारों की लिस्ट जारी की जिसमें बनारस विधानसभा (Vidhansabha Chunav) से उम्मीदवारों का नाम घोषित हुआ । पिंडरा विधानसभा से प्रधानमंत्री के खिलाफ लोकसभा चुनाव लड़ चुके अजय राय (Ajay Rai) और रोहनिया विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के महानगर अध्यक्ष राजेश्वर पटेल (Rajeshwar Patel) को उम्मीदवार घोषित किया गया है।

पूर्व में यह रहा रोहनिया विधानसभा का इतिहास
रोहनिया विधानसभा 2012 से नए विधानसभा क्षेत्र के रूप में सामने आया। इस विधानसभा में लगभग 4 लाख मतदाता मौजूद है। इस विधानसभा का अधिकार क्षेत्र नेशनल हाईवे के किनारे मौजूद है । इस विधानसभा क्षेत्र से NH-2 गुजरती है । कहा जाता है कि यह विधानसभा क्षेत्र पटेल बाहुल्य क्षेत्र में आता है । 2012 में सोनेलाल पटेल की अपना दल से अनुप्रिया पटेल ने चुनाव में जीत हासिल की थी। 2014 के लोकसभा चुनाव में अपना दल के भाजपा से गठबंधन होने पर अनुप्रिया पटेल ने मिर्जापुर से संसद का चुनाव जीता । 2014 में हुए उपचुनाव में सपा के मंत्री सुरेंद्र पटेल के भाई महेंद्र पटेल ने इस सीट से जीत दर्ज की इस उपचुनाव में अनुप्रिया पटेल की मां अपना दल की कृष्णा पटेल को हार मिली थी। और यहीं से अनुप्रिया पटेल और कृष्णा पटेल के बीच मनमुटाव शुरू हुआ और अपना दल में दो फाड़ हो गया। 2017 के चुनाव में यह सीट भाजपा के सुरेंद्र सिंह ओढ़े ने जीते और कांग्रेस से मिलकर चुनाव लड़ने के बाद भी सपा के महेंद्र पटेल इस सीट को बचा नहीं सके ।

क्या है इस विधानसभा का समीकरण
वाराणसी के रोहनिया विधानसभा सीट पर मौजूदा समय में कुल वोटरों की संख्या लगभग साढ़े 4 लाख के करीब है। जातिगत आंकड़ों की बात करें तो इस विधानसभा में भूमिहार और पटेल जाति के मतदाताओं की संख्या अधिक है। और यही वजह मानी जा रही है कि कांग्रेस पार्टी ने पटेल उम्मीदवार को यहां से टिकट दिया है। इस विधानसभा से पटेल और भूमिहार वोटरों का जिस उम्मीदवार पर विश्वास साथ रहा उनका विधायक बनना तय हैं।

क्या कहा घोषित कांग्रेस प्रत्याशी राजेश्वर पटेल ने
राजेश्वर पटेल ने कहा कि हमारे क्षेत्र में बहुत सी समस्याएं हैं मैं एक खिलाड़ी हूं और इसी क्षेत्र का रहने वाला हूं बचपन से मैं इसी इलाके में घूम-घूम कर खेला हूं । मैं क्षेत्र की हर समस्याओं से अवगत हूं। रोहनिया विधानसभा गंगा के किनारे हैं । इस गांव में बाढ़ की समस्या हैं। हमारे इस विधानसभा का अधिकतर क्षेत्र कृषि क्षेत्र है। और इस क्षेत्र में आवारा पशुओं की संख्या बहुत अधिक है आवारा पशुओं से समस्या को हल करना मेरी प्रथम प्राथमिकता रहेगी। 

विश्वास नहीं काम पर मिला है टिकट
कांग्रेस पार्टी ने मुझे विश्वास पर नहीं मेरे पूराने काम के बल पर पार्टी का उम्मीदवार घोषित किया है । पूर्व में मैं ब्लाक प्रमुख ,ओबीसी मोर्चा का जिला अध्यक्ष , जिला किसान कमेटी का अध्यक्ष , कांग्रेस पार्टी में जिला महानगर अध्यक्ष पद पे, मेरे कार्यों को देखते हुए पार्टी ने मुझ पर विश्वास जताया और मैं धन्यवाद करता हूं बहन प्रियंका गांधी पर जिन्होंने मुझ पर विश्वास जताते हुए जिले का भार सौंपा और आज मुझे कांग्रेस पार्टी से उम्मीदवार घोषित किया।

खिलाड़ी कभी चैलेंज के रूप में सामने क्या है ये नहीं सोचता
राघवेंद्र चौबे ने कहा कि मैं एक खिलाड़ी हूं चैलेंज के सामने कौन है यह मैं नहीं सोचता खिलाड़ी खेल के मैदान में उतरा है । तो सामने कोई भी हो हमारे जो अपने होंगे वह हमारे साथ होंगे हमारा टीमवर्क बहुत ही अच्छा है। मैं अपने टीम पर भरोसा करते हुए और इसी टीम के बदौलत 2022 का चुनाव हम जरूर जीतेंगे। अनुप्रिया पटेल और कृष्णा पटेल पर पूछे गए प्रश्न पर उन्होंने कहा कि उनका दूसरा मिशन है और मेरा दूसरा और हम उनको कुछ नहीं कहेंगे । लेकिन इतना जरूर कहेंगे कि क्षेत्र की जनता किसको ना करेगी और किसको स्वीकार करेगी यह आपको 7 तारीख को पता चल जाएगा।

डोर टू डोर करेंगे चुनाव प्रचार
इस विधानसभा के तमाम क्षेत्र में ग्रामीण इलाके आते हैं और इसको देखते हुए कांग्रेस पार्टी "डोर टू डोर" प्रचार करने के मूड में है। वही बात डिजिटल प्लेटफॉर्म पर प्रचार प्रसार की तो इस कार्य में प्रियंका गांधी की टीम लगी हैं । राघवेंद्र पटेल ने भी कहा कि हम अपने टीम के साथ डोर टू डोर चुनाव प्रचार करेंगे रही बात सोशल मीडिया की तो बहन प्रियंका गांधी इस पर कार्य कर रही है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios