Asianet News Hindi

मंत्री ने किया बेहतर बिजली का दावा, उनके जाते ही मोबाइल रोशनी में मरीज को लगाए गए टांके

बुधवार को पिछड़ा वर्ग कल्याण एवं दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग के मंत्री अनिल राजभर बहराइच दौरे पर थे। यहां उन्होंने योगी सरकार के ढाई साल के कार्यकाल की खूबियां गिनाई।

treatment in mobile flash light in bahraich district hospital
Author
Bahraich, First Published Sep 19, 2019, 1:51 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बहराइच (Uttar Pradesh). वार्डों में भरा पानी, मोबाइल टॉर्च की रोशनी में डॉक्टर लगा रहे टांके। ये हाल है यूपी के बहराइच जिले में स्थित मेडिकल कॉलेज का। योगी सरकार ने जिले में 450 बेड के जिला अस्पताल को मेडिकल कॉलेज का दर्जा भले ही दे दिया है, लेकिन संसाधन के नाम पर यहां की व्यवस्था बिलकुल ध्वस्त है। बता दें, हाल ही में सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी इस मेडिकल कॉलेज में आए थे और यहां की व्यवस्थाओं का जायजा लिया था।

मंत्री के जाते ही फेल हुए उनके वादे
ये आलम तब था जब बुधवार को पिछड़ा वर्ग कल्याण एवं दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग के मंत्री अनिल राजभर बहराइच दौरे पर थे। यहां उन्होंने योगी सरकार के ढाई साल के कार्यकाल की खूबियां गिनाई। साथ ही जिले में बेहतर बिजली व स्वास्थ्य व्यवस्था का दावा भी किया। लेकिन उनके जाते ही सारी व्यवस्थाएं फेल नजर आई। 

कुछ इस तरह हुआ मेडिकल कॉलेज में काम 
जिले में रुक रुककर हुई बारिश से अस्पताल के वार्डों में पानी भर गया। करीब 14 घंटे बत्ती गुल रही। हालांकि, इमरजेंसी में जनरेटर चलाने की सुविधा थी, लेकिन जिम्मेदार अफसरों ने इस तरफ ध्यान तक नहीं दिया। दिन में गायब हुई बिजली कई घंटों बाद रात को 12 बजे तक नहीं आई। वार्ड के इमरजेंसी रूम में मोमबत्ती जलाकर डॉक्टर काम करते रहे। मोबाइल टार्च की रोशनी में मरीजों को टांका लगाने के साथ उनका इलाज किया गया।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios