Asianet News Hindi

केंद्रीय मंत्री का बयान-रोका जाएगा पाकिस्तान को जाने वाला एस्ट्रा पानी, इस पर काम शुरू

बता दें, सितंबर 1960 में भारत और पाकिस्तान के बीच हुई ‘सिंधु जल संधि’ के तहत व्यास, रावी और सतलुज नदी पर भारत का जबकि सिंधु, चिनाब और झेलम नदियों पर पाकिस्तान का नियंत्रण है।

union minister gajendra singh shekhawat said no excess water to pakistan
Author
Gorakhpur, First Published Sep 17, 2019, 12:28 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

गोरखपुर (उत्तर प्रदेश). केंद्रीय जल संसाधन मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने सोमवार को मीडिया से बातचीत में कहा कि भारत सिंधु जल संधि के अलावा पाकिस्तान को मिलने वाले अतिरिक्त पानी के प्रवाह पर रोक लगाएगा। भारत और पाकिस्तान के बीच सिंधु जल संधि हुई है, लेकिन भारत की नदियों से पाकिस्तान को भारी मात्रा में अतिरिक्त पानी मिल जाता है। केंद्र सरकार इस पर रोक लगाएगी, इसके लिए प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है।

उन्होंने कहा, रावी नदी के उस पार बहुत बड़ा इलाका फैला हुआ है और वहां जमा होने वाला बारिश का पानी नदियों के जरिए पाकिस्तान पहुंच जाता है। हम इस अतिरिक्त पानी को पाकिस्तान जाने से रोकेंगे, क्योंकि इस पर भारतीय किसानों और आम लोगों का हक है। भारत के इस कदम पर किसी को कोई आपत्ति नहीं होनी चाहिए।

बता दें, सितंबर 1960 में भारत और पाकिस्तान के बीच हुई ‘सिंधु जल संधि’ के तहत व्यास, रावी और सतलुज नदी पर भारत का जबकि सिंधु, चिनाब और झेलम नदियों पर पाकिस्तान का नियंत्रण है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios