Asianet News HindiAsianet News Hindi

हैदराबाद एनकाउंटर के बाद उन्नाव गैंगरेप में आरोपी की बहन बोली, 'बेकसूर है मेरा भाई'

हैदराबाद एनकाउंटर के बाद उन्नाव में गैंगरेप के बाद युवती को जिंदा जलाने वाले आरोपी की बहन का बयान सामने आया है। उसका कहना है, मेरा भाई बेकसूर है। मां ग्राम प्रधान हैं इसलिए रंजिश के चलते भाई और पिता को फंसाया जा रहा है। मामले की सीबीआई जांच होनी चाहिए, जिसमें सच्चाई सबके सामने आ जाएगी।

unnao victim burnt alive accused sister said my brother is innocent KPU
Author
Unnao, First Published Dec 6, 2019, 1:10 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उन्नाव (Uttar Pradesh). हैदराबाद एनकाउंटर के बाद उन्नाव में गैंगरेप के बाद युवती को जिंदा जलाने वाले आरोपी की बहन का बयान सामने आया है। उसका कहना है, मेरा भाई बेकसूर है। मां ग्राम प्रधान हैं इसलिए रंजिश के चलते भाई और पिता को फंसाया जा रहा है। मामले की सीबीआई जांच होनी चाहिए, जिसमें सच्चाई सबके सामने आ जाएगी। बता दें, 90 प्रतिशत जल चुकी पीड़िता को दिल्ली के सफदरजंग हॉस्पिटल के आईसीयू में रखा गया है। वेंटिलेटर पर जीवनरक्षक दवाएं दी जा रही हैं। चिकित्सा अधीक्षक डॉक्टर सुनील गुप्ता ने कहा, पीड़ित की हालत बेहद गंभीर है। उसके सरवाइवल की संभावनाएं कम है। हर संभव कोशिश की जा रही है। 

क्या है पूरा मामला
मामला उन्नाव के बिहार थाना क्षेत्र के हिंदूनगर का है। कुछ दिन पहले यहां युवती के साथ रेप की घटना को अंजाम दिया गया था। मामले में दो नामजद आरोपियों को गिरफ्तार कर पुलिस ने जेल भी भेजा। हाल ही में वे जमानत पर जेल से बाह आए थे। मामले में गुरुवार को युवती मामले की पैरवी के लिए रायबरेली जा रही थी। रास्ते में सुबह करीब चार बजे दोनों नामजद आरोपियों ने अपने साथियों के साथ मिलकर उसपर मिट्टी का तेल छिड़ककर आग लगा दी। पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों में बेटे और पिता का नाम भी शामिल है, जिसको उसकी बहन ने बेकसूर बताया है।

उपराष्ट्रपति ने उन्नाव मामले पर मुख्य सचिव से मांगी जानकारी 
उन्नाव कांड पर उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी से मामले की तथ्यात्मक जानकारी ली। साथ ही योगी सरकार की तरफ से चल रही कार्रवाई के बारे में भी जाना। वहीं, लखनऊ मंडल के कमिश्नर मुकेश मेश्राम पीड़िता ने बताया, घटना की जांच के लिए एएसपी की अध्यक्षता में छह सदस्यीय एसआईटी टीम गठित की गई है। एएसपी सभी आरोपियों व केस से जुड़े सभी लोगों का बयान लेंगे। केस से जुड़े सभी साक्ष्य एसआईटी जुटाएगी।

पीड़िता को जिंदा जलाने के बाद घर में आराम से सो रहा था आरोपी
उन्नाव से करीब 50 किमी दूर पीड़िता का गांव है। मुख्य आरोपी का घर पीड़िता के घर से करीब 200 कदम की दूरी पर है। पीड़िता गांव से करीब 4 किमी दूर बैसवारा स्टेशन से रायबरेली जाने के लिए ट्रेन पकड़ने निकली थी। रास्तें में गांव से करीब डेढ़ किमी दूर सुबह 4.30 बजे आरोपियों ने उसे जिंदा जला दिया। आरोपी की मां वर्तमान में गांव की प्रधान हैं। पिछले 20 सालों से उनके घर का ही कोई न कोई गांव का प्रधान बनता आ रहा है। आरोपी की मां कहती हैं, बेटे को रंजिश के तहत फंसाया जा रहा। पीड़िता की मां को स्कूल में हमने ही खाना बनाने के लिए रखवाया। अब पता नहीं क्या हो गया? सुबह मेरा बेटा सो रहा था तभी पुलिस पहुंची और बच्चे को पकड़ कर ले गई।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios