Special Story: वाराणसी में आस्था और सियासत के संगम से व्यापारियों के रोजगार को मिल रहा बल, देखिए खास रिपोर्ट

| Feb 23 2022, 06:02 PM IST

Special Story: वाराणसी में आस्था और सियासत के संगम से व्यापारियों के रोजगार को मिल रहा बल, देखिए खास रिपोर्ट

सार

वाराणसी में महाशिवरात्रि के साथ-साथ विधानसभा चुनाव को देखते हुए जहां एक तरफ शिवरात्रि मिस यू भक्तों का आगमन होने वाला है। वहीं दूसरी तरफ नेताओं का सियासी केंद्र होने जा रहा है।

अनुज तिवारी

वाराणसी: उत्तर प्रदेश के वाराणसी में महाशिवरात्रि के साथ-साथ विधानसभा चुनाव को देखते हुए जहां एक तरफ शिवरात्रि मिस यू भक्तों का आगमन होने वाला है। वहीं दूसरी तरफ नेताओं का सियासी केंद्र होने जा रहा है। पर्यटकों और राजनैतिक दौरे से सुस्त पड़े पर्यटन उद्योग को फिर से रफ्तार मिल गई है। वाराणसी में इन दिनों होटल, कैब के साथ-साथ धर्मशाला और छोटे बड़े लॉज की बुकिंग आने वाले त्यौहार और नेताओं के ठहरने के लिए बुक हो रही हैं। यहीं वजह है कि वाराणसी के व्यापारियों के साथ-साथ टूरिज्म से जुड़े लोगों के चेहरों पर भी खुशी है। 

Subscribe to get breaking news alerts

आस्था और सियासत दोनों का बनेगा केन्द्र
मार्च के पहले सप्ताह से ही वाराणसी आस्था के साथ-साथ सियासत का केंद्र बनने जा रहा है। क्योंकि मार्च के पहले सप्ताह में ही महाशिवरात्रि का भव्य आयोजन तो वहीं दूसरी तरफ बड़े चेहरों का आगमन भी वाराणसी में होने वाला है। यहीं वजह मानी जा रही है कि बनारस में मार्च के पहले सप्ताह में व्यापारियों को खासा लाभ मिल रहा हैं। 

वाराणसी में घूमने, ठहरने का मन है तो ये है रेट 
बनारस में दर्शन पूजन के बाद पर्यटकों की पहला पसंद होती है, मां गंगा की लहरों में वोटिंग करना तो अगर आप वोटिंग करना चाहते हैं तो अनुमानित रेट चप्पू वाले नाव का 2-3 हजार वही सीएनजी बोट्स का रेट 3-5 हजार रूपए और बजड़ा बोट्स की बुकिंग रेट 10-30 हजार तक हैं। वहीं अगर आप वाराणसी में ठहरना चाहते हैं तो फाइव स्टार होटल के रूम का खर्च लाख रुपए तक है। वहीं 4 स्टार होटल का खर्चा 80 हजार तक, थर्ड स्टार होटल का रेट 50 हजार तक है और अगर आप छोटे होटल लेना चाहते हैं तो आपको 5-10 हजार तक खर्च करने पड़ेंगे। वही बनारस में बहुत से धर्मशाला है जहां आप हजार रूपए दे कर भी ठहर सकते हैं।

व्यापारियों को है उम्मीद, होगा बड़ा फायदा 
होटल व्यापारी राकेश ने कहा कि पाबंदियों के चलते पर्यटक कम आ रहे थे। लेकिन अब चुनाव और शिवरात्रि के चलते मार्च माह में हमारे होटल की बुकिंग फुल है। हमें उम्मीद है कि मंद पड़े रोजगार में अब बल मिलेगा और हमें फायदा होगा।

नाव संचालक विनोद साहनी ने कहा के चुनाव में तमाम चैनल वाले हमारे नाव बुक कर रहे हैं। जिससे हमें काफी मुनाफा हो रहा है। गंगा की लहरों में हर कोई शूट करना चाहता है। साथ ही साथ नेताओं का भी आवागमन होने से हमें मुनाफा हो रहा है। मार्च के पहले सप्ताह में शिवरात्रि है, जिसको लेकर हमें बुकिंग मिल रही है। हमें उम्मीद है कि मंद पड़े रोजगार में अब फायदा होगा। 

ट्रैवल एजेंसी चला रहे संजय ने कहा कि नेताओं के आवागमन से हमें बुकिंग मिल रही है। वहीं चुनाव में हमें काफिले में चलने के लिए भी नेता लोग हमारे गाड़ियों को बुक कर रहे हैं जिससे हमें काफी मुनाफा मिल रहा है। 

यूपी चुनाव: CM योगी का अखिलेश पर हमला, बोले-12 बजे सोकर उठेंगे, 2 बजे तैयार होंगे फिर शिवपाल जैसा आदमी समझाएगा

यूपी चुनाव: पीएम मोदी बोले- घोर परिवारवादियों के राज में कौशांबी को विकास के लिए तरसा दिया गया