Asianet News HindiAsianet News Hindi

भारतीय सेना में मिलिट्री पुलिस के लिए पहली बार सिलेक्ट हुईं लड़कियां, बोलीं- अब ये लाइफ देश के नाम

भारतीय थल सेना के कोर ऑफ मिलिट्री पुलिस (सीएमपी) में पहली बार लड़कियों को सिलेक्ट किया गया है। यूपी के पूर्वांचल से 5 लड़कियों का इसमें सिलेक्शन हुआ। किसान परिवार से ताल्लुक रखने वाली पांचों बेटियों ने सिलेक्शन के बाद सरहद की हिफाजत में प्राण न्यौछावर करने की कसम खाई।

up girls selected for military police in indian army KPU
Author
Varanasi, First Published Dec 18, 2019, 11:18 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

वाराणसी (Uttar Pradesh). भारतीय थल सेना के कोर ऑफ मिलिट्री पुलिस (सीएमपी) में पहली बार लड़कियों को सिलेक्ट किया गया है। यूपी के पूर्वांचल से 5 लड़कियों का इसमें सिलेक्शन हुआ। किसान परिवार से ताल्लुक रखने वाली पांचों बेटियों ने सिलेक्शन के बाद सरहद की हिफाजत में प्राण न्यौछावर करने की कसम खाई। साथ ही कहा, देश के लिए अब जीवन समर्पित। पांचों सेना भर्ती ट्रेनिंग के लिए बंगलुरु के लिए रवाना हो गईं। 

यूपी की 30 लड़कियां सीएमपी में हुई सिलेक्ट 
बीते दिनों लखनऊ में हुई सीएमपी भर्ती में यूपी की पांच लड़कियों का चयन हुआ। इनमें पूर्वांचल की गाजीपुर के बीरबलपुर गांव की संध्या गुप्ता, आजमगढ़ के धर्मनपुर की डिंपल यादव, चंदौली माधोपुर की रागिनी सिंह, चंदौली की करैमुआ की नेहा मौर्या और मऊ के जमीनमनौली की शालिनी गुप्ता ने देश की पहली सीएमपी में जगह बनाई। सेना भर्ती निदेशक कर्नल राजेश सिंह ठाकुर ने बताया, 12 से 14 सितंबर को लखनऊ में हुई सेना भर्ती में करीब तीन हजार अभ्यर्थियों ने भाग लिया था। इनमें यूपी की 30 युवतियों का सिलेक्शन हुआ। पूर्वांचल की धरती के रणबांकुरों ने सीमा पर अपनी अलग ही पहचान बनाई है। पहली बार सीएमपी में पूर्वांचल की पांच वीरांगनाओं का भी चयन हुआ।

up girls selected for military police in indian army KPU

रिजर्व में रखी गईं तीन युवतियां
राजेश सिंह ने बताया, सीएमपी में फिलहाल पूर्वांचल की तीन अन्य युवतियों को रिजर्व में भी रखा गया है। इनमें आजमगढ़ की प्रियंका यादव, गाजीपुर की अंकिता प्रजापति और बलिया की अंजली गुप्ता का नाम शामिल है।

क्या होता है मिलिट्री पुलिस का काम
सैन्य पुलिस का काम कैंट एरिया की यूनिट में पुलिसिंग करना होता है। इसके अलावा वे जवानों की ओर से होने वाले नियम के उल्लंघन को भी रोकते हैं। युद्ध के दौरान व्यवस्था से जुड़े सारे इंतजाम सैन्य पुलिस को ही करते रहे हैं। इस तरह की जिम्मेदारियां अब महिलाएं भी संभालेंगी। बता दें, हाल ही में सेना ने एक बड़ा फैसला करते हुए मिलिटरी पुलिस में 874 महिला जवानों को शामिल करने का फैसला किया। इसके तहत हर साल 52 महिला जवानों को मिलिटरी पुलिस में शामिल किया जाएगा।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios