Asianet News HindiAsianet News Hindi

गरीबी में बुझे घर के चिराग: तांत्रिक ने मुंह में जूता ठूंस मासूम को मारा, इलाज नहीं मिलने से बेटी की भी मौत

ये मामला उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कुशीनगर (Kushinagar) जिले का है। यहां जरार गांव में रहने वाले ओमप्रकाश राजभर के 4 साल का बेटा नीतीश कई दिनों से बुखार (Fever) और उल्टी दस्त से पीड़ित था। परिजन किसी झोलाछाप डॉक्टर से इलाज भी करा रहे थे, लेकिन तबीयत में सुधार नहीं होने पर तांत्रिक के पास लेकर गए, वहां उसके साथ हैवानियत की गई। इससे बच्चे की जान चली गई। वहीं, इसी घर की बच्ची की भी इलाज के अभाव में मौत हो गई।

UP Kushinagar innocent child died due to beating of tantriks and due to lack of treatment innocent daughter lost her life
Author
Kushinagar, First Published Oct 17, 2021, 4:54 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

कुशीनगर। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कुशीनगर (Kushinagar) में हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां तांत्रिकों ने भूत उतारने के नाम पर एक मासूम बच्चे को मार डाला। ये बच्चा कुछ दिन से बीमार चल रहा था। परिजन ठीक करवाने के लिए तांत्रिक के पास ले गए। वहां उसके साथ जो सलूक किया गया, वो चौंकाने वाला था। तांत्रिकों ने पहले मुंह में जूता ठूंसा, फिर उसकी पिटाई की गई, जिससे बच्चे की तड़प-तड़प कर मौत हो गई।

मामला पड़रौना कोतवाली क्षेत्र के जरार गांव का है। यहां रहने वाले ओमप्रकाश राजभर ने बताया कि उसका 4 साल का बेटा नीतीश कई दिन से बुखार और उल्टी दस्त से पीड़ित था। परिजन किसी झोलाछाप डॉक्टर से इलाज करा रहे थे, लेकिन तबीयत में सुधार नहीं हो रहा था। बच्चे की तबीयत बिगड़ने लगी तो गांव की एक महिला ने झाड़-फूंक करके ठीक करने का दावा किया। घरवाले झांसे में आ गए। इसके बाद महिला ने बिहार से एक तांत्रिक दंपति को बुलाया और झाड़-फूंक कराना शुरू कर दिया।

तांत्रिक सपने में रेप करता है, महिला ने थाने में की ये शिकायत, आरोपी बुलाया गया तो पता चली चौंकाने वाली कहानी

डॉक्टर के पास ले जाने के बजाय झाड़-फूंक करवाते रहे परिजन
परिजन का कहना था कि झाड़-फूंक के दौरान बच्चे की हालत गंभीर हो गई। तांत्रिक दंपति ने भूत उतारने के नाम पर मासूम बच्चे के मुंह में जूता ठूंसा दिया। इसके बाद जूतों से ही पीटा गया, जिससे मासूम बच्चे ने तड़प-तड़पकर दम तोड़ दिया। बताया गया कि राजभर परिवार बेहद गरीबी में जीवन-यापन कर रहा है। इस परिवार की मुसीबतें यहीं कम नहीं हुई। इधर, बेटे नीतीश की मौत हुई तो दूसरी तरफ इलाज के अभाव में बेटी की भी मौत हो गई। एक साथ दो बच्चों की मौत से परिवार पर विपत्ति का पहाड़ टूट पड़ा। इस परिवार के पास कफन तक के पैसे नहीं थे, जिसके बाद ग्रामीणों ने चंदा लगाकर दोनों बच्चों का अंतिम संस्कार कराया।

तांत्रिक ने श्मशान में ले जाकर किया कुछ ऐसा, घर आकर दंपती ने उठाया खौफनाक कदम

बच्चे को जमीन पर लिटाया, फिर जूता रगड़ा और मुंह में डाला
घटना की सूचना मिलने पर पुलिस पहुंची और तांत्रिक महिला और गांव की महिला को गिरफ्तार कर लिया। जबकि तांत्रिक पति मौके से फरार हो गया। परिजन का कहना था कि मासूम बच्चे को ठीक करने के नाम पर तांत्रिक ने काफी देर तक उसे जमीन पर लिटाए रखा। इसके बाद बच्चे को ठीक करने के नाम पर मुंह पर जूता रगड़ा। बाद में तांत्रिक ने बच्चे के मुंह के अंदर जूता भी डाला, जिसके बाद बच्चा तड़प-तड़प कर मर गया।

दो महिलाओं को पुलिस हिरासत में लिया है। अभी तक पीड़ित की तरफ से तहरीर नहीं मिली है। शिकायत मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।- निर्भय सिंह, एसएचओ, पड़रौना कोतवाली

दहल जाएगा दिल: 8 साल की बच्ची को गोद में लेकर गड्डे में कूदा तांत्रिक, फिर लगाई आग..दोनों की मौत 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios