Asianet News HindiAsianet News Hindi

दबंगई, कारोबार में वर्चस्व, धोखा और इश्कमिजाजी के कारण हुई रेलवे ठेकेदार की मौत, हत्या के पीछे बिहार कनेक्शन

दबंगई, इश्कमिजाजी, कारोबार में बर्चस्व और धोखा की लड़ाई में इस सनसनीखेज वारदात को अंजाम दिया गया है। फिलहाल पुलिस सीसीटीवी के आधार पर अपनी जांच को आगे बढ़ा रही है। जानकारी के मुताबिक सीसीटीवी में दिख  रहे सभी लोगों की पहचान हो गयी। इसी के आधार पर पुलिस लखनऊ से लेकर बिहार सहित अन्य जगहों पर छापेमारी कर रही है। 
 

UP News Lucknow Railway contractor died due to bullying domination in business cheating and flirtation Bihar connection behind the murder
Author
Lucknow, First Published Jun 29, 2022, 5:57 PM IST

लखनऊ: कैंट थाना क्षेत्र के नीलमथा इलाके में शनिवार को दिनदहाड़े हुई हत्या में चौकाने वाले खुलासे सामने आ रहे है। बिहार कनेक्शन से लेकर दूसरी शादी से जुड़ी कई चौका देने वाली बात सामने आ रही हैं। 

दबंगई, इश्कमिजाजी, कारोबार में बर्चस्व और धोखा की लड़ाई में इस सनसनीखेज वारदात को अंजाम दिया गया है। फिलहाल पुलिस सीसीटीवी के आधार पर अपनी जांच को आगे बढ़ा रही है। जानकारी के मुताबिक सीसीटीवी में दिख  रहे सभी लोगों की पहचान हो गयी। इसी के आधार पर पुलिस लखनऊ से लेकर बिहार सहित अन्य जगहों पर छापेमारी कर रही है। 

जल्द ही खुलासा करने का दावा
डीसीपी पूर्वी प्राची सिंह ने बताया कि मामले में जांच जारी है। बाहर का कनेक्शन निकल कर सामने आया है। पुलिस आरोपियों को पकड़ने के लिए लगातार दबिश दे रही है। सीसीटीवी के आधार पर आरोपियों की पहचान कर ली गई है। जल्द से जल्द घटना का खुलासा होगा। 

शहाबुद्दीन गैंग के शूटरों का हाथ 
पुलिस का दावा है कि हत्या के पीछे शहाबुद्दीन गैंग के शूटरों का हाथ है। पुलिस के मुताबिक, बिहार के बाहुबली शहाबुद्दीन गिरोह के शूटर्स ने हत्या की वारदात को अंजाम दिया है। बाहुबली शहाबुद्दीन की मौत के बाद से उसका खास गुर्गा रईस खान गिरोह को ऑपरेट कर रहा है। वही ठेकेदार गोरख उर्फ वीरेंद्र ठाकुर की हत्या में नामजद आरोपी फिरदौस रईस खान का खास आदमी है। पुलिस की एक टीम बिहार में हत्या आरोपी फिरदौस, वीरेंद्र की पहली पत्नी प्रियंका, उसके प्रेमी बिट्टू जायसवाल के अलावा शूटर्स की तलाश में जुटी है। 

मृतक वीरेंद्र की कॉल डिटेल ने खोले के रहस्य
पुलिस ने वीरेंद्र के मोबाइल के बारे में जानकारी हासिल की। जिसमें दो मोबाइल नंबर सक्रिय होने की बात सामने आई। पुलिस ने इन दोनों नंबरों की कॉल डिटेल निकलवा चुकी है। जिसमें कई संदिग्ध नंबर मिले हैं। कुछ नंबरों पर लगातार बातचीत होने की बात सामने आई। 

मृतक वीरेंद्र का करीबी भी शामिल 
जानकारी के मुताबिक शूटरों में शामिल एक शख्स वीरेंद्र का पूर्व परिचित था। जिसके आने की बात सुनकर उसने दरवाजा खोलने की हामी भर दी थी। पुलिस टीम को यह सबूत सीसीटीवी फुटेज को खंगालने पर मिले हैं।

पुलिस इस एंगल पर भी कर रही है जांच
वीरेंद्र ने अपनी सुरक्षा के लिए तीन गार्डों को रखा था। लेकिन जिस दिन शूटर वीरेंद्र की हत्या करने के लिए घर में आये उस दिन गॉर्ड ने ही उनको वीरेंद्र के कमरे का रास्ता बताया। और हत्या के बाद से तीनों गॉर्ड फरार है। पुलिस को आशंका है कि गॉर्ड की मिलीभगत से ही इस घटना को अंजाम दिया गया। पुलिस इस एंगल पर भी जांच में जुटी हुई है। 

बिहार का एक हिस्ट्रीशीटर हत्या में शामिल
पुलिस सूत्रों के मुताबिक हत्या में बिहार का एक हिस्ट्रीशीटर शामिल है। जिसके साथ अन्य लोग आए थे। यह हिस्ट्रीशीटर वीरेंद्र का पहचान वाला था। जिसका नाम सुनकर उसने दरवाजा खोलने की हामी भरी थी।हत्या के बाद से ही शहजहांपुर निवासी दो सुरक्षा गार्ड के घर छोड़कर फरार हैं। उनके करीबियों से पुलिस पूछताछ कर रही है। इस पूछताछ के पुलिस घटना में घर में मौजूद लोगों पर शक की सुई घूम गई है।

शनिवार को बदमाशों ने ठेकेदार वीरेंद्र कुमार सागर (42) नाम के व्यक्ति को गोली मारी थी। जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो थी। जानकारी के मुताबिक, मृतक रेलवे में ठेकेदारी का काम करता था। वह पैर से दिव्यांग है। स्थानीय लोगों ने घटना की जानकारी पुलिस को दी। पत्नी खुशबून तारा ने वीरेंद्र की पहली पत्नी प्रियंका पर प्रॉपर्टी के लालच में हत्या का आरोप लगाया है। 

मूलता बिहार का रहने वाला था मृतक 
जेसीपी क्राइम नीलाब्जा चौधरी ने बताया कि बदमाशों ने वीरेन्द्र ठाकुर नाम के युवक की गोली मारकर हत्या कर दी है। मृतक मूलता बिहार का रहने वाला था और रेलवे में ठेकेदारी करता था बताया जा रहा है कि जो लोग मारने आए थे वह हरी टोपी लगाए हुए थे वीरेन्द्र ठाकुर आज घर पर ही थे। तीन अज्ञात बदमाश उनके घर में घुस आए और कमरा बंद कर गोली मारकर हत्या कर दी।

दूसरी पत्नी के साथ रहता था मृतक 
हालांकि, पुलिस आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों को खंगालने के साथ ही पूरे मामले की जांच कर रही है। पुलिस  के मुताबिक, वीरेन्द्र ठाकुर की दो पत्नी है, एक का नाम प्रियंका है, जो कुछ साल पहले उसको छोड़ कर जा चुकी है। दूसरी पत्नी का नाम खुशबून तारा है जो वीरेन्द्र के साथ रहती है। जिस वक्त बदमाशों ने वीरेंद्र की हत्या की उस दौरान घर में उसकी पत्नी और दो बेटे मौजूद थे लेकिन बदमाशों ने उन्हें कमरे में बंद कर दिया था।

यूपी में मंहगी दवाइयां लिखने पर डॉक्टरों पर होगी सख्त कार्रवाई, मरीज घर बैठे ऐसे कर सकेंगे शिकायत
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios