Asianet News Hindi

पुलिसवाले की बेबसीः पॉजिटिव पत्नी-बेटी की देखभाल करने नहीं मिली छुट्टी, नौकरी से दे दिया रिजाइन

एसपी मनीष सोनकर ने बताया कि उन्होंने एसएसपी से छुट्टी मांगी थी। लेकिन SSP रोहन पी कानय ने देने से मना कर दिया। जबकि मैंने उनसे कहा भी था कि मेरे पत्नी और बेटी की कोरोना से संक्रमित हैं। इसलिए मुझे नौकरी से रिजाइन करना ही सही लगा।  (एसएसपी रोहन पी कनय, फोटो सोशल मीडिया)

uttar pradesh news jhansi sp manish chandra sonkar resigns for corona positive wife and daughter care leave not granted kpr
Author
Jhansi, First Published May 4, 2021, 12:06 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

झांसी (उत्तर प्रदेश). देश में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के चलते लगे लॉकडाउन की वजह से कई राज्य सरकारों ने पुलिस अधिकारी और कर्मचारियों की छुट्टी कैंसिल कर रखी है। इसी बीच उत्तर प्रदेश के झांसी से एक एसपी के बेबसी की कहानी सामने आई है, जहां सीओ मनीष चंद्र सोनकर को संक्रमित पत्नी और बेटी की देखभाल के लिए छुट्टी नहीं मिली तो उन्होंने दुखी होकर अपने पद से इस्तीफा दे दिया। अफसर ने अपने कारण में लिखा है कि अधिकारी मेरी बेबसी सुन नहीं रहे थे, इसिलए आखिर में नौकरी छोड़ना ही बेहतर समझा।

परिवार की खातिर छोड़ दी नौकरी
एसपी मनीष सोनकर ने बताया कि उन्होंने एसएसपी से छुट्टी मांगी थी। लेकिन SSP रोहन पी कानय ने देने से मना कर दिया। जबकि मैंने उनसे कहा भी था कि मेरे पत्नी और बेटी की कोरोना से संक्रमित हैं। इसलिए मुझे नौकरी से रिजाइन करना ही सही लगा। वहीं SSP ने सीओ के इस्तीफे को अपने बड़े अधिकारियों के पास भेज दिया है। सीओ के मुताबिक 30 अप्रैल को उनकी पत्नी को कोरोना संक्रमण हो गया। 

व्हाट्सएप पर इस्तीफा लिखकर भेजा
बताया जा रहा है कि सीओ मनीष सोनकर बिना अवकाश स्वीकृत कराए घर चले गए थे। वह पंचायत चुनाव लगी ड्यूटी करने भी नहीं पहुंचे हुए थे। मतगणना वाले दिन जब डीएम और एसएसपी झांसी मौके पर पहुंचे तो मनीष सोनकर वहां पर मौजूद नहीं थे।जिसके बाद एसएसपी ने उनको तलब किया तो वह वहां भी नहीं पहुंचे। फिर  एसएसपी ने इसे अनुशासनहीनता बताते हुए उनके लिए डीओ लेटर जारी कर दिया है। जिसके बाद एसपी ने अपने घर से उनको व्हाट्सएप पर अपना इस्तीफा लिखकर भेज दिया।

जबरन अधिकरियों ने लगाई एसपी की डयूटी
जानकारी के मुताबिक, एसपी मनीष ने 1 से 6 मई के लिए अवकाश मांगा था लेकिन, उनकी छुट्टी रद्द कर दी गई। वहीं अधिकारियों ने उनकी ड्यूटी मतगणना के लिए भोजिला मंडी में लगा दी। एसपी का कहना ह कि वह पत्नी और बेटी की बीमारी की वजह से  ड्यूटी पर नहीं आए। लेकिन इसके  बावजूद उनको ड्यूटी पर आने के लिए लगातार मजबूर किया जा रहा था।  एसएसपी रोहन पी कनय से विनती की, लेकिन वह मुझे  वापस ड्यूटी पर आने के लिए दवाब डाल रहे थे।

 2005 बैच के पीपीएस अधिकारी हैं मनीष सोनकर
बता दें कि मनीष चंद्र सोनकर 2005 बैच के पीपीएस अधिकारी हैं। वह पिछले डेढ़ साल से झांसी में तैनात थे। वहीं दो महीने पहले ही उनको सीओ का चार्ज मिला है। वह यहीं पर सरकारी आवास में पत्नी एवं चार साल की बेटी के साथ रहते हैं।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios