Asianet News Hindi

भव्य राम मंदिर के लिए घर-घर जा रही विहिप की टोली, भगवान की तस्वीर पहुंचा दे रहे ये मैसेज

एकत्रित समर्पण निधि से राम मंदिर के साथ ही मंदिर परिसर में शोध के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर की लाइब्रेरी, आडिटोरियम, रामलीला व अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिए आउटडोर स्टेडियम, धर्मशाला, भंडारा स्थल, खोदाई में मिले पुरातात्विक साक्ष्य प्रदर्शित करने के लिए संग्रहालय, राम मंदिर के लिए संघर्ष करने वालों को याद करने के लिए स्मारक भी बनाई जाएगी।
 

VHP team going door-to-door for the grand Ram temple ASA
Author
Lucknow, First Published Jan 14, 2021, 1:37 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ (Uttar Pradesh) । मकर संक्रांति पर्व यानि आज से विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के कार्यकर्ताओं की टोली निकल पड़ी है, जो घर-घर जाकर भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए धन संग्रह कर रही है। इस दौरान 10,100 और 1000 रुपए के चंदा देने वालों को रसीद भी दे रही है। जिसमें भगवान राम की तस्वीर भी लगी हुई है। बताते चले कि 45 दिनों का यह अभियान माघ पूर्णिमा (27 फरवरी) तक चलेगा। इसमें राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री व विपक्ष के नेताओं के साथ ही मजदूर व किसानों से भी समर्पण निधि ली जाएगी। हर रामभक्त से सहयोग राशि ली जाएगी। उम्मीद है कि साल 2023 के अंत तक मंदिर का निर्माण पूरा हो जाएगा।

एक टोली में  होंगे पांच कर्यकर्ता
एक टोली में पांच कार्यकर्ता होंगे। 20 हजार से अधिक की राशि अकाउंट पेई चेक या बैंक ट्रांसफर द्वारा ही स्वीकार्य होगी। विहिप के संयुक्त महामंत्री सुरेंद्र जैन के मुताबिक इस अभियान के माध्यम से देश के कुल साढ़े छह लाख में से सवा पांच लाख गांवों के 13 करोड़ से अधिक परिवारों के 65 करोड़ लोगों से संपर्क किया जाएगा। इसमें दस लाख टोलियों में 40 लाख से अधिक कार्यकर्ता लगे हैं। 

 

एकत्रित धन से होंगे ये कार्य
एकत्रित समर्पण निधि से राम मंदिर के साथ ही मंदिर परिसर में शोध के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर की लाइब्रेरी, आडिटोरियम, रामलीला व अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिए आउटडोर स्टेडियम, धर्मशाला, भंडारा स्थल, खोदाई में मिले पुरातात्विक साक्ष्य प्रदर्शित करने के लिए संग्रहालय, राम मंदिर के लिए संघर्ष करने वालों को याद करने के लिए स्मारक भी बनाई जाएगी।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios