Asianet News HindiAsianet News Hindi

गजब नौजवान: सपनों को नहीं लग सके पंख, तो नैनो कार के ऊपर लगा लिए

Aug 9, 2019, 2:54 PM IST

सारण. 'असंभव नहीं है कुछ भी, बस थोड़ी आग दिल में चाहिए।' ऐसी ही आग सारण जिले के गांव शरमी के रहने वाले 23 वर्षीय मिथिलेश कुमार के अंदर भी दिखाई दी। मिथिलेश का सपना था कि वो पायलट बने। लेकिन किसान पिता के पास इतना पैसा नहीं था। लिहाजा उसे अपना रास्ता बदलना पड़ा। भले मिथिलेश अपने सपने को पंख नहीं लगा पाया, लेकिन उसने अपनी नैनो कार को हेलिकॉप्टर में बदलकर सुकून जरूर हासिल कर लिया।

7 महीने में नैनो कार बनी हेलिकॉप्टर
मिथिलेश ने करीब 7 महीने की मेहनत के बाद नैनो कार को हेलिकॉप्टर की डिजाइन दे दी। यह अलग बात है कि उसे अपनी सारी जमा-पूंजी खर्च करनी पड़ गई। मिथिलेश गुजरात में पाइप लाइन फिटर का काम करता है। मिथिलेश का यह सपना पूरा करने में उसके भाई सुजीत का भी पूरा सहयोग मिला।

कभी तो उड़ान भरेगा हेलिकॉप्टर
मिथिलेश के हेलिकॉप्टर का इंटीरियर लोहे का है। बाहरी हिस्से में एल्युमिनियम का इस्तेमाल किया गया है। कार  को हूबहू हेलिकॉप्टर का रूप देने के लिए उस जैसी सभी चीजें उसमें लगाई गई हैं। यह हेलिकॉप्टर रात के वक्त खूब जगमगाता है। मिथिलेश बताते है कि उन्होंने जो भी पैसे बचाए थे, उससे एक नैनो कार खरीदी। इसके बाद नवंबर 2018 में कार को हेलिकॉप्टर का रूप देना शुरू किया। मिथिलेश को उम्मीद है कि आज भले उनका हेलिकॉप्टर सड़क पर दौड़ता है, लेकिन एक दिन आसमान में भी उड़ेगा।

Video Top Stories