Other Lifestyle

बरसात से पहले देखना है वॉटरफॉल, तो MP की ये 6 जगह है परफेक्ट

Image credits: Freepik

पातालपानी झरना

पातालपानी झरना इंदौर से 35 किलोमीटर दूर स्थित एक फेमस स्पॉट है। ये झरना लगभग 300 फीट की ऊंचाई से गिरता है, जिससे एक शानदार व्यू दिखता है। यहां आप जून से सितंबर तक जा सकते हैं।

Image credits: Wikipedia

धुआंधार झरना

धुआंधार झरना भेड़ाघाट, जबलपुर में स्थित है। जहां नर्मदा नदी का जल संगमरमर की घाटी से नीचे गिरता है, जिससे धुंध का प्रभाव पैदा होता है। जून से अक्टूबर तक आप यहां आ सकते हैं।

Image credits: Wikipedia

रनेह झरना

रनेह झरना खजुराहो के पास केन नदी पर स्थित है और अलग-अलग रंगों के ग्रेनाइट और डोलोमाइट सहित अनूठी चट्टान संरचनाओं के लिए फेमस है। मानसून में यहां का मौसम बहुत सुहावना होता है।

Image credits: Wikipedia

मधुमक्खी झरना या बी फॉल्स

बी फॉल्स पचमढ़ी के हिल स्टेशन में सबसे फेमस झरनों में से एक है। यह झरना साल भर बहता है। झरने के चारों ओर की हरी-भरी हरियाली से एक शानदार व्यू देखने को मिलता है।

Image credits: Wikipedia

चचाई झरना

चचाई झरना मध्य प्रदेश के सबसे ऊंचे झरनों में से एक है, जो रीवा जिले में है। इसकी ऊंचाई लगभग 130 मीटर है। यह तमसा नदी की सहायक नदी बीहड़ नदी पर स्थित है।

Image credits: Wikipedia

पांडव जलप्रपात

पांडव झरना पन्ना नेशनल पार्क के पास स्थित है। माना जाता है कि महाभारत के दौरान पांडवों ने निर्वासन के दौरान यहां समय बिताया था। ये झरना 30 मीटर ऊंचा है और नीचे एक तालाब है।

Image credits: Wikipedia