National

Pokhran Nuclear Tests: भारत ने कितनी की परमाणु तकनीक में तरक्की

Image credits: Twitter

ऑपरेशन शक्ति था पोखरण परमाणु परीक्षण का नाम

11 मई भारत के इतिहास का अहम दिन है। इस दिन 1998 में भारत ने राजस्थान के पोखरण में परमाणु परीक्षण किया था। इसे ऑपरेशन शक्ति नाम दिया गया था।

Image credits: Twitter

पोखरण में टेस्ट किए गए थे 5 परमाणु बम

मई 1998 में भारतीय सेना के पोखरण टेस्ट रेंज में पांच परमाणु बम टेस्ट किए गए थे। टेस्ट पूरी तरह सफल रहा था।

Image credits: Twitter

परमाणु शक्ति संपन्न देश बना था भारत

इन टेस्ट से भारत ने विखंडन और थर्मोन्यूक्लियर हथियार बनाने की क्षमता का प्रदर्शन किया था। इसके साथ ही परमाणु शक्ति संपन्न राष्ट्र बन गया था।

Image credits: Twitter

पोखरण परमाणु परीक्षण के 25 वर्ष पूरे

11 मई 2023 को पोखरण परमाणु परीक्षण के 25 वर्ष पूरे हुए। पिछले 25 वर्षों में भारत ने रक्षा, परमाणु रिएक्टर क्षमता और ऊर्जा सुरक्षा के क्षेत्र में कई उपलब्धियां हासिल की हैं।

Image credits: adobe stock

भारत के पास हैं 160 परमाणु हथियार

फेडरेशन ऑफ अमेरिकन साइंटिस्ट्स (एफएएस) के अनुसार, भारत के पास वर्तमान में लगभग 160 परमाणु हथियार हैं। भारत जमीन, हवा और समुद्र से परमाणु हथियार लॉन्च कर सकता है।

Image credits: Twitter

भारत के पास हैं परमाणु हमला करने वाले कई हथियार

परमाणु हथियार दागने के लिए भारत के पास अग्नि, पृथ्वी और के श्रृंखला की बैलिस्टिक मिसाइलें हैं। भारत के पास परमाणु पनडुब्बियां और ऐसे लड़ाकू विमान हैं जो एटम बम गिरा सकते हैं।

Image credits: Twitter

परमाणु ऊर्जा से बिजली बनाने की क्षमता बढ़ी

पिछले दो दशक में परमाणु ऊर्जा से बिजली बनाने की भारत की क्षमता में तेजी से वृद्धि हुई है।

Image credits: Freepik

47,112 मिलियन यूनिट हुआ परमाणु ऊर्जा उत्पादन

2003-04 में वार्षिक परमाणु ऊर्जा उत्पादन 17,700 मिलियन यूनिट था। यह 2021-22 में बढ़कर 47,112 मिलियन यूनिट हो गया। इस तरह लगभग 165 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

Image credits: Freepik

22 परमाणु रिएक्टर से बनाई जा रही बिजली

भारत में 22 परमाणु रिएक्टर से बिजली बनाई जा रही है। सरकार ने 2017 में 1.05 लाख करोड़ रुपए की लागत और 7,000 मेगा वाट की क्षमता वाले 11 स्वदेशी रिएक्टरों को मंजूरी दी थी।

Image credits: Freepik

6,780 मेगावाट हो गई है बिजली उत्पादन क्षमता

भारत ने 1998-99 में 2,225 मेगावाट की उत्पादन क्षमता स्थापित की थी। यह वित्त वर्ष 2023 में 205 प्रतिशत बढ़कर 6,780 मेगावाट हो गई है।

Image credits: Freepik

13,480 मेगावाट तक पहुंच जाएगी बिजली उत्पादन क्षमता

निर्माणाधीन परियोजनाओं के पूरा होने से वर्ष 2024-25 तक 6,780 मेगावाट की वर्तमान क्षमता 13,480 मेगावाट तक पहुंच जाएगी।

Image credits: Freepik

सरकार ने 12 परमाणु ऊर्जा रिएक्टरों को दी है मंजूरी

सरकार ने 9,000 मेगावाट की क्षमता वाले 12 परमाणु ऊर्जा रिएक्टरों के लिए मंजूरी दी है। इन्हें 2031 तक बनाना है। इससे कुल परमाणु ऊर्जा क्षमता 22,480 मेगावाट तक पहुंच जाएगी।

Image credits: Freepik

परमाणु रिएक्टरों की संख्या में छठे स्थान पर है भारत

भारत काम कर रहे परमाणु रिएक्टरों की संख्या में दुनिया में छठा सबसे बड़ा और निर्माणाधीन रिएक्टरों सहित कुल रिएक्टरों की संख्या में दूसरा सबसे बड़ा देश है।

Image credits: Freepik

2030 तक 20 गीगावॉट क्षमता हासिल करना है लक्ष्य

परमाणु ऊर्जा विभाग का लक्ष्य 2030 तक परमाणु ऊर्जा उत्पादन की 20 गीगावॉट क्षमता हासिल करना है। भारत अमेरिका और फ्रांस के बाद परमाणु ऊर्जा का तीसरा सबसे बड़ा उत्पादक बन जाएगा।

Image credits: adobe stock