World news

क्या ईरान की अपनी 1 कमजोरी के चलते गई इब्राहिम रईसी की जान?

Image credits: Wikipedia

हेलिकॉप्टर हादसे में गई ईरानी राष्ट्रपति-विदेश मंत्री की जान

ईरानी राष्ट्रपति और विदेश मंत्री की हेलिकॉप्टर क्रैश में मौत हो गई। सवाल उठ रहे हैं कि काफिले के 2 हेलिकॉप्टर सुरक्षित पहुंचे पर रईसी का हेलिकॉप्टर ही क्रैश क्यों हुआ?

Image credits: Wikipedia

हेलिकॉप्टर हादसे के पीछे कहीं ईरान की ही लापरवाही तो नहीं

ऐसे में ये संभावना भी बन रही है कि कहीं इसके पीछे खुद ईरान की लापरवाही तो नहीं। क्योंकि ईरान की एविएशन सिक्योरिटी का इतिहास बहुत अच्छा नहीं रहा है।

Image credits: social media

किस विमान में थे इब्राहिम रईसी?

इब्राहिम रईसी अमेरिका में बने बेल 212 हेलिकॉप्टर में सवार थे। अमेरिका में बना ये हेलिकॉप्टर 1979 की क्रांति के बाद ईरान को नहीं बेचा जा सकता था।

Image credits: freepik@zlatko_plamenov

बेल 212 विमान का ट्रैक रिकॉर्ड अच्छा नहीं

बेल 212 विमान का रिकॉर्ड अच्छा नहीं रहा है। इससे पहले इस विमान की दुघर्टना का मामला सितंबर 2023 में तब सामने आया, जब UAE के तट पर यह हादसे का शिकार हुआ।

Image credits: freepik@brgfx

कौन बनाता है बेल 212 विमान?

अमेरिका में बना बेल 212 क्रू सहित 15 लोगों को ले जाने में सक्षम है। इसे टेक्सास की बेल टेक्स्ट्रॉन ने बनाया है। इसके ईरानी मॉडल को सरकारी सेवाओं के लिए डिजाइन किया गया था।

Image credits: social media

पश्चिमी देशों की कंपनियों से नए विमान खरीदने पर बैन

1990 के दशक से ईरान पैसेंजर हेलिकॉप्टर की कमी से जूझ रहा है। प्रतिबंधों के चलते ईरान पश्चिमी कंपनियों से नए विमान या स्पेयर पार्ट्स नहीं खरीद सकता।

Image credits: Wikipedia

ईरान के ज्यादातर विमान 1979 से पहले के

विमानों की कमी को पूरा करने के लिए ईरान पुराने हेलिकॉप्टर को लीज पर लेने या दलालों के जरिए स्पेयर पार्ट्स की खरीद करता है। ईरान में कई विमान अब भी 1979 की क्रांति के समय के हैं।

Image credits: Getty

ईरान के ज्यादातर हेलिकॉप्टर ओवरएज हो चुके

रिपोर्ट्स के मुताबिक ईरान की 2 एयरलाइन ईरान एयर और महान एयर की ओर से इस्तेमाल किए जाने वाले विमानों की एवरेज ऐज 20 से 30 साल है। ऐसे में ज्यादातर अब ओवरऐज हो चुके हैं।

Image credits: freepik@viarprodesign

वैश्विक प्रतिबंधों के चलते ईरान पश्चिमी देशों से नहीं ले सकता विमान

ईरान के पास वर्तमान में ज्यादातर रूसी Mig, सुखोई और चीन के जे-7 विमान हैं। 1979 की इस्लामिक क्रांति के बाद वैश्विक प्रतिबंधों के चलते ईरान पश्चिमी देशों से विमान नहीं खरीद सकता।

Image credits: freepik@wirestock