Asianet News HindiAsianet News Hindi

भारत के इस हिस्से में खाली हुए एटीएम, सब्जियां हुई खत्म तो चिकन भी 500 के पार

भारत में नागरिकता संसोधन कानून के बाद से लगातार माहौल खराब चल रहा है। हर जगह इसके विरोध में प्रदर्शन किया जा रहा है। लेकिन इसका सबसे ज्यादा असर गुवाहाटी में नजर आ रहा है। 

Guwahati price hikes with chicken sold whopping 500 rupees per kg kph
Author
Guwahati, First Published Dec 15, 2019, 12:26 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

गुवाहाटी: यहां लोगों के लिए जिंदा रहना मुश्किल हो गया है। लोगों को खाने-पीने की कमी का सामना करना पड़ रहा है। साथ ही यहां मिलने वाली हर चीज की कीमतें पांच गुणा तक बढ़ गई है। आइए आपको दिखाते हैं कैसे कैब की वजह से गुवाहाटी के लोगों की जिंदगी प्रभावित हो रही है। 

Guwahati price hikes with chicken sold whopping 500 rupees per kg kph

एटीएम में पैसे खत्म हो चुके हैं। लगभग सभी एटीएम ड्राई हो गए हैं। बैंक भी विरोध प्रदर्शन को देखते हुए एटीएम रिफिल नहीं कर रहे। 

Guwahati price hikes with chicken sold whopping 500 rupees per kg kph

सब्जियों के लिए गुवाहाटी शहर के बाहर के इलाकों पर निर्भर करता है। लेकिन विरोध प्रदर्शन के कारण बाहर से सब्जियां शहर नहीं पहुंच पा रही। इस कारण सब्जियों की कीमत काफी बढ़ गई है। 10 रुपए मिलने वाला पालक भी 60 में बिक रहा है। 

Guwahati price hikes with chicken sold whopping 500 rupees per kg kph

यहां प्याज की कीमत 250 रुपए प्रति किलो पहुंच गई है। साथ ही आलू भी 60 रुपए किलो मिल रहा है। होलसेलर्स का कहना है कि अभी जितना स्टॉक है, तब तक आलू-प्याज भी मिल रहे हैं। एक बार ये खत्म हुआ तो लोगों को ये भी नसीब नहीं होगा।  

Guwahati price hikes with chicken sold whopping 500 rupees per kg kph

बात अगर चिकन की करें तो इसकी कीमत यहां 500 रुपए प्रति किलो चली गई है। आमतौर पर इसकी कीमत 180 रहती है। लेकिन विरोध प्रदर्शन के कारण इनकी कीमतों में आग लग गई है। साथ ही रोहू मछली भी 420 रुपए किलो हो गया है। 

Guwahati price hikes with chicken sold whopping 500 rupees per kg kph

बात अगर फ्यूल की करें, तो उसकी भी हालत खराब है। शहर के कई पेट्रोलपंप खाली हैं। यहां फ्यूल खत्म हो गए हैं। गाड़ियों के ना पहुंचने के कारण सड़कों पर कार, बाइक्स और स्कूटर काफी कम दिखाई दे रहे हैं।  हालांकि, उम्मीद जताई जा रही है कि जल्द ही इन सारी समस्याओं को सॉल्व कर लिया जाएगा।  


 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios