हटके डेस्क: प्रभु श्रीराम ने सीता की अग्निपरीक्षा ली थी। उस समय माता सीता को जलती चिता को पार करना पड़ा था। अब कलियुग में ऐसा ही एक वाक्या महाराष्ट्र से सामने आया। यहां उस्मानबाद में रहने वाले एक शख्स ने अपनी पत्नी से उसकी पवित्रता साबित करवाने के लिए उसका हाथ खौलते तेल में डलवा दिया। इसके बाद महिला को उस तेल में डाला गया पांच रूपये का सिक्का बाहर निकालना था। ये पूरी घटना महिला के पति ने हो अपने मोबाइल में कैद की। 

चार दिन बाद लौटी थी महिला 
मामला उस्मानाबाद के परंडा से सामने आया। यहां रहने वाली एक महिला चार दिन तक अपने ससुराल से गायब रही। महिला का पति पेशे से ड्राइवर है। महिला का उसके पति से मायके जाने को लेकर झगड़ा हुआ था। इसके बाद महिला बिना बताए घर से निकल गई। लेकिन महिला अपने मायके भी नहीं पहुंची। चार दिन तक उसके पति ने उसकी तलाश की। लेकिन पत्नी का कोई पता नहीं चल पाया। चार दिन बाद महिला अपने आप ही घर लौट आई, जहां उसने बताया कि उसे दो लोग किडनैप कर अपने साथ ले गए। लेकिन उसके साथ उनलोगों ने कुछ नहीं किया। 

पति ने ली अग्निपरीक्षा 
पति-पत्नी दोनों पारधी समुदाय से आते हैं। इस समुदाय में लोगों से सच बुलवाने के लिए खौलते तेल में हाथ डलवाने की प्रथा है। कड़ाही में पांच का सिक्का डाला जाता है, जिसे अपनी शुद्धता साबित करने वाला इंसान हाथ डालकर निकालता है। महिला के पति ने उसे अपनी पवित्रता साबित करने के लिए तेल में हाथ डालने को कहा। ताकि ये साबित हो सके कि उसकी पत्नी वाकई अब भी पवित्र है या नहीं। 

वीडियो हुआ वायरल 
इस  मामले का वीडियो खुद महिला के पति ने बनाया। वीडियो में शख्स ये कहता दिखा कि उसे अपनी पत्नी का सच जानना है। इसलिए वो ऐसा कर रहा है। वहीं वीडियो वायरल होने के बाद अधिकारियों के संज्ञान में ये मामला आ गया है। अब इसकी जाँच शुरू कर दी गई है। महिला पर पवित्रता के नाम पर अत्याचार का ये मामला अब जांच के घेरे में है।