Asianet News Hindi

इस घोड़े और हंस की दोस्ती है बेमिसाल, कभी नहीं रह सकते अलग

कभी-कभी दो किस्म के जानवरों में ऐसी गहरी दोस्ती हो जाती है कि लोग भी उन्हें देख कर हैरत में रह जाते हैं।
 

This horse and goose friendship is unmatched, can never live apart
Author
Pennsylvania, First Published Sep 4, 2019, 4:27 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पेन्सिल्वेनिया। दो जानवरों के बीच कभी-कभी ऐसी दोस्ती हो जाती है कि वे एक-दूसरे का साथ नहीं छोड़ सकते। एक छोटे-से घोड़े और एक हंस की दोस्ती कुछ ऐसी ही है कि दोनों एक-दूसरे के बिना नहीं रह सकते। इस घोड़े और हंस की दोस्ती वाकई एक मिसाल बन गई है और हर तरफ इसकी चर्चा हो रही है। फिलहाल, दोनों पेन्सिल्वेनिया के एक एनिमल शेल्टर में रह रहे हैं। अब कुछ लोग इन्हें अडॉप्ट करना चाहते हैं। उनकी दोस्ती को देखते हुए एनिमल शेल्टर के एक अधिकारी ने कहा है कि इस मिनियेचर हॉर्स को जो अडॉप्ट करना चाहेगा, उसे उसके सबसे अच्छे दोस्त हंस को भी स्वीकार करना होगा। 

क्या कहा बक्स काउंटी एसपीसीए ने
बक्स काउंटी सोसाइटी फॉर द प्रिवेंशन ऑफ क्रुअल्टी टू एनिमल्स (SPCA) का कहना है कि शेल्टर में वेफल्स नाम का 6 साल का यह छोटा घोड़ा हेमिंग्वे नाम के हंस के साथ ही आया था। उनके बीच ऐसी दोस्ती है कि जल्द ही सभी को समझ में आ गया कि दोनों को अलग नहीं किया जा सकता है। 

नहीं रह सकते एक-दूसरे के बिना
पेन्सिल्वेनिया के एनिमल शेल्टर में आने के पहले भी दोनों एक साथ ही रह रहे थे। ये पहले एक फार्म में रह रहे थे। इन्हें इस शेल्टर में इसलिए लाया गया, क्योंकि वहां उनके रहने की व्यवस्था ठीक नहीं थी। फार्म में मिनियेचर घोड़े और उसके दोस्त हंस को परेशानी का सामना करना पड़ रहा था।

अडॉप्शन के लिए एप्लिकेशन किए जा रहे स्वीकार
बक्स काउंटी एसपीसीए ने मंगलवार को कहा कि घोड़े और हंस को जो अडॉप्ट करना चाहते हैं, वे शेल्टर होम की वेबसाइट पर एप्लिकेशन दे सकते हैं। चुने गए एप्लिकेंट्स को क्वैकटाउन शेल्टर में एक मीटिंग के लिए बुलाया जाएगा। फिर वहां यह तय होगा कि घोड़ा और हंस किसको दिया जाए। घोड़े को लेने के लिए लोगों में काफी उत्साह है। सबसे बड़ी बात है कि इस डील में हंस भी साथ मिल रहा है। घोड़ा वाकई बहुत ही खूबसूरत है। 
 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios