Asianet News HindiAsianet News Hindi

Afghanistan संघर्ष: तालिबान के लिए अभी भी चुनौती बनी हुई है पंजशीर घाटी; NRF ने कर रखे हैं हौसले पस्त

15 अगस्त को काबुल पर कब्जा करने के बावजूद पंजशीर प्रांत अब भी पूरी तरह से Taliban के कब्जे में नहीं आ सका है। यहां NRF अभी भी अपना कब्जा बनाए हुए है।

Afghanistan Panjshir province a big challenge for Taliban
Author
Kabul, First Published Oct 25, 2021, 10:03 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

काबुल. पंजशीर प्रांत Taliban के लिए अभी भी एक बड़ी चुनौती बना हुआ है। दावा किया जा रहा है कि पंजशीर प्रांत का ख्वाक दर्रा (Khawak pass) और रोखा जिला NRF( National Resistance Front) के नियंत्रण में आ गया है। इसके अलावा पंजशीर में NRF लगातार तालिबान का नियंत्रण क्षेत्र कम करता जा रहा है। इस समय तालिबान लड़ाकों की ज्यादातर इकाइयां बाजारक शहर(Bazarak town) में जमी हुई हैं।

यह भी पढ़ें-रहने को छत नहीं, खाने को रोटी नहीं; 3.5 करोड़ अफगानियों को नहीं पता कि वे जीएंगे या मरेंगे, Emotional pics

अफगानिस्तान में Taliban:भूखों नहीं मरना है, तो...
अफगानिस्तान गरीबी और भुखमरी के संकट में फंसता जा रहा है। तालिबान(Taliban) की सरकार बनने के बाद लोगों की जिंदगी नरक से बदतर हो गई है। करीब 3.5 करोड़ को पर्याप्त भोजन नहीं मिल रहा है। इसे देखते हुए तालिबान सरकार ने भुखमरी से निपटने फूड फॉर वर्क स्कीम लॉन्च की है। इसके तहत मजदूरों को मजदूरी के बदले में गेहूं दिया जाएगा। तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने रविवार को दक्षिणी काबुल में प्रेस कांफ्रेंस के जरिये यह स्कीम लॉन्च की है। स्कीम सभी बड़े शहरों में लॉन्च होगी। इससे अकेले काबुल में ही 40 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा। मुजाहिद ने कहा कि बेरोजगारी खत्म करने में यह बड़ा हथियार साबित होगा, लेकिन इसका फायदा उठाने के लिए मजदूरों को कड़ी मेहनत करनी होगी।

Afghanistan Panjshir province a big challenge for Taliban

अफगानिस्तान आतंकवाद का अड्डा न बने
ब्रिटेन की विदेश मंत्री एलिजाबेथ ट्रस(Elizabeth Truss) ने इस बात पर जोर दिया है कि उनका देश प्राथमिकता के साथ यह सुनिश्चित करना चाहता है कि अफगानिस्तान आतंकवाद का अड्डा न बने। बता देंकि एलिजाबेथ  22 से 24 अक्टूबर तक भारत की यात्रा पर थीं। इस दौरान मुंबई में मीडिया से चर्चा करते हुए ब्रिटेन की विदेशमंत्री ने कहा कि ब्रिटेन कहीं भी आतंकवाद को बर्दाश्त नहीं करता है। कश्मीर में पाकिस्तान से संचालित आतंकवाद पर भी उन्होंने दो टूक कहा कि वे आतंकवाद को बर्दाश्त नहीं करती हैं।

यह भी पढ़ें-बांग्लादेश में फिर violence: मामूली बहस के बाद मुस्लिम और बौद्धों के गुटों में संघर्ष, झोपड़ी फूंकी, 8 घायल

अफगानिस्तान पर नजर बनाए हुए है अमेरिका
इधर, अमेरिका अफगानिस्तान में अपने सैन्य और खुफिया मिशन को चलाए रखने के लिए पाकिस्तान के एयरस्पेस के इस्तेमाल को लेकर एक डील कर सकता है। पाकिस्तान भी भविष्य में अफगानिस्तान में हवाई हमला करने के लिए अमेरिका को अपना एयरस्पेस इस्तेमाल करने दे सकता है। हालांकि पाकिस्तान का मकसद है कि अमेरिका उसके हितों को देखते हुए भारत पर दबाव डाले।

यह भी पढ़ें-12 साल में यूं बर्बाद होता गया Syria; अलकायदा के लीडर को US ने ड्रोन स्ट्राइक में मार गिराया, सामने आईं Pic

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios