Asianet News HindiAsianet News Hindi

बांग्लादेश में फिर violence: मामूली बहस के बाद मुस्लिम और बौद्धों के गुटों में संघर्ष, झोपड़ी फूंकी, 8 घायल

बांग्लादेश में दुर्गा पूजा के दौरान हिंदुओं के खिलाफ हिंसा का मामला अभी गर्म ही था कि कॉक्स बाजार (Cox Bazar) जिले के Teknaf Upazila (टेकनाफ उपज़िला) में बौद्धों पर हमले का मामला सामने आया है।   

violence in Bangladesh, Rumours spread after clash breaks out near Buddhist temple in Teknaf
Author
Dhaka, First Published Oct 25, 2021, 8:18 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

ढाका. बांग्लादेश में एक बार फिर अल्पसंख्यकों के खिलाफ हिंसा का मामला सामने आया है। 24 अक्टूबर की शाम कॉक्स बाजार (Cox Bazar) जिले के टेकनाफ उपजिला (Teknaf Upazila) में बौद्धों पर हमला हुआ है। टेकनाफ के होवेख्योंग(Howaikhyong) में  कटखाली में रहने वाले बौद्धों और मुसलमानों के बीच किसी बात को लेकर बहस हो गई। इसके बाद दोनों गुट आपस में भिड़ गए। इस संघर्ष में 8 लोग घायल हुए हैं। यह घटना ऐसे समय में हुई, जब बांग्लादेश में हिंदुओं पर हुए हमले के बाद दुनियाभर में विरोध प्रदर्शन चल रहे हैं। बता दें कि दुर्गा पूजा के दौरान बांग्लादेश में कोमिल्ला(Comilla) शहर में हिंदुओं के खिलाफ 13 अक्टूबर से शुरू हुई हिंसा 17 अक्टूबर तक पूरे बांग्लादेश में चलती रही थी। इस दौरान मंदिरों में तोड़फोड़ की गई और घरों को आग लगा दी गई थी।

यह भी पढ़ें-बांग्लादेश में रोहिंग्या कैम्प की मस्जिद पर हमला, 7 लोगों की मौत; म्यांमार के विद्रोही गुट ARSA पर शक

झोपड़ी में लगाई आग
बौद्धों के अनुसार, 24 अक्टूबर की सुबह एक छोटी सी बात को लेकर तोफायल अहमद नाम के एक मुस्लिम युवक और उमोंगी चकमा सहित कुछ चकमा युवकों के बीच कहासुनी हो गई थी। बता दें कि चकमा (Chakma) बांग्लादेश के चट्टग्राम पहाड़ी क्षेत्र का सबसे बड़ा समुदाय है।  इसके बाद तोफायेल के समर्थक और इलाके के चकमा युवकों के बीच शाम करीब 4 बजे हिंसक झड़प हो गई। दोनों गुट हथियारों से लैस थे। इस दौरान अरण्य कुटीर थॉट सेंटर से सटी एक छोटी सी झोपड़ी में तोड़फोड़ की गई। उसे आगे के हवाले कर दिया गया।

यह भी पढ़ें-Bangladesh में हिंसा: मस्जिद से कुरान उठाकर दुर्गा पूजा पंडाल में रखकर दंगा कराने वाला इकबाल हुसैन अरेस्ट

सोशल मीडिया पर शेयर की तस्वीरें
इस हिंसक घटना की कुछ तस्वीरें बौद्धों ने सोशल मीडिया पर शेयर की हैं। हालांकि पुलिस का मानना है कि ऐसा सिर्फ सहानुभूति हासिल करने के लिए किया गया है। बौद्धों और मुसलमानों के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद टेकनाफ के प्रभारी पुलिस अधिकारी (OC) मोहम्मद हाफिजुर रहमान और यूएनओ मोहम्मद परवेज चौधरी ने क्षेत्र का दौरा किया। हालांकि उन्होंने इस मामले पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।

यह भी पढ़ें-बांग्लादेश violence: इसी ड्रग एडिक्ट ने दुर्गा पंडाल में कुरान रखी थी, फिर 'हनुमान स्टाइल' में गदा उठाए दिखा

दुर्गा पूजा हिंसा: CID करेगी जांच 
उधर, दुर्गा पूजा हिंसा मामले में पुलिस ने इकबाल हुसैन और तीन अन्य के खिलाफ पवित्र कुरान की बेअदबी का मामला आपराधिक जांच विभाग (CID) को सौंप दिया है। कोतवाली पुलिस स्टेशन में यह मामला दर्ज किया गया था। कोमिला(Comilla) के ASP एम तनवीर अहमद ने रविवार को ढाका ट्रिब्यून को बताया कि शनिवार को इकबाल और तीन अन्य को सात दिन के रिमांड पर रखा गया था। इनमें एक आरोपी एकराम(Ekram) भी है, जिसने घटना के बाद 999 को फोन किया था, और दूसरे आरोपी दरोगाबाड़ी तीर्थस्थल( Darogabari shrine ) का केयरटेकर हाफिज हुमायूं और फैसल हैं। इकबाल को 21 अक्टूबर की रात करीब 10 बजे कॉक्स बाजार के सुगंधा बीच इलाके से गिरफ्तार किया गया।

यह भी पढ़ें-Bangladesh हिंसा: इस एक सेल्फी के जरिये इकबाल तक पहुंची पुलिस, उसे पकड़वाने जासूस बन गए 3 दोस्त

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios