दिल्ली से पाकिस्तान तक हवा खराब, लाहौर में वीक में 3 दिन स्कूल बंद रखने का आदेश, जानिए पूरी डिटेल्स

| Dec 07 2022, 01:27 PM IST

 दिल्ली से पाकिस्तान तक हवा खराब, लाहौर में वीक में 3 दिन स्कूल बंद रखने का आदेश, जानिए पूरी डिटेल्स

सार

 सर्दी के साथ ही वायु प्रदूषण(air pollution) की समस्या बढ़ने लगती है। यह दिक्कत सिर्फ दिल्ली की नहीं, पाकिस्तान की भी है। इसके पीछे एक बड़ी वजह पराली जलाने की घटनाओं को माना जाता है। दोनों देशों में इसे लेकर तमाम सख्ती के बावजूद वायु गुणवत्ता यानी एयर क्वालिटी इंडेक्स(AQI) अभी भी बहुत खराब कैटेगरी में बना हुआ है।

लाहौर, पाकिस्तान. सर्दी के साथ ही वायु प्रदूषण(air pollution) की समस्या बढ़ने लगती है। यह दिक्कत सिर्फ दिल्ली की नहीं, पाकिस्तान की भी है। इसके पीछे एक बड़ी वजह पराली जलाने की घटनाओं को माना जाता है। दोनों देशों में इसे लेकर तमाम सख्ती के बावजूद वायु गुणवत्ता यानी एयर क्वालिटी इंडेक्स(AQI) अभी भी बहुत खराब कैटेगरी में बना हुआ है। यह है दोनों देशों का हाल...

लाहौर में हफ्ते में तीन दिन स्कूल बंद करने का ऐलान
पाकिस्तान की पंजाब सरकार ने स्मॉग(smog) के बढ़ते स्तर को देखते हुए लाहौर में सप्ताह में तीन दिन स्कूल बंद रखने की घोषणा की है। इस आशय का नोटिफिकेशन मंगलवार(6 दिसंबर) की रात प्रोविंसियल गवर्नमेंट ने जारी कर दिया। लाहौर हाईकोर्ट के निर्देशों के अनुपालन में रिट याचिका संख्या 227807/2018 में 2 दिसंबर 2022 के आदेश के अनुसार, यह अधिसूचित किया गया है कि स्मॉग स्थिति के कारण जिला लाहौर के सभी सार्वजनिक और निजी स्कूल अगले आदेश तक रविवार को साप्ताहिक अवकाश के अलावा प्रत्येक शुक्रवार और शनिवार को बंद रहेंगे।

Subscribe to get breaking news alerts

लाहौर हाईकोर्ट(एलएचसी) ने मंगलवार को सरकार से प्रांतीय राजधानी में सप्ताह में कम से कम तीन दिन स्कूलों को बंद रखने की सूचना देने को कहा था। एलएचसी के जस्टिस शाहिद करीम ने पर्यावरण से जुड़े कई मुद्दों पर जनहित याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए यह आदेश पारित किया था। एलएचसी न्यायाधीश ने बुधवार (आज) को अदालत में स्कूलों के बंद होने के संबंध में अधिसूचना प्रस्तुत करने के लिए एक प्रांतीय कानून अधिकारी को निर्देश दिया था। अदालत के आदेशों के अनुपालन में पंजाब के स्कूल शिक्षा विभाग ने मंगलवार देर रात एक नोटिफिकेशन जारी किया, जिसकी कॉपी 7 दिसंबर को एलएचसी बेंच के समक्ष पेश की गई।

यह भी जानिए: स्मॉग को एक आपदा करार देते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री परवेज इलाही ने प्रांत में स्मॉग को कम करने के लिए बनाई गई एक योजना के प्रभावी कार्यान्वयन का आदेश दिया था। साथ ही कहा था  कि इसके कारण होने वाले कारकों को नियंत्रित करने के लिए कार्रवाई की जानी चाहिए। सीएम ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण विभाग (ईपीडी), परिवहन और उद्योग विभाग प्रशासनिक अधिकारियों के साथ मिलकर मैदान में उतरें। उन्होंने कहा कि धुंध को कम करने के लिए जारी एसओपी को लागू करने में किसी भी तरह की विफलता को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा था कि पराली आग लगाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। पर्यावरण संरक्षण एजेंसी को कानूनों और नीतियों का उल्लंघन करने के लिए ईंट भट्ठों और उद्योगों पर सजा बढ़ाने के लिए नियम बनाने का निर्देश दिया। न्यायमूर्ति करीम ने कहा कि स्मॉग नागरिकों, विशेषकर बच्चों और वरिष्ठ नागरिकों के बीच स्वास्थ्य संबंधी जटिलताएँ पैदा कर रहा है।

दिल्ली का हाल
सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (SAFAR) के अनुसार दिल्ली में AQI 329 (बहुत खराब) कैटेगरी में दर्ज किया गया। बता दें कि दिल्ली सरकार ने सोमवार को शहर में 9 दिसंबर तक बीएस-III पेट्रोल और बीएस-IV डीजल फोर व्हीलर्स के चलने पर प्रतिबंध लगा दिया है। हालांकि इसका विरोध हो रहा है।

यह भी पढ़ें
BS-III पेट्रोल, BS-IV डीजल वाहनों पर बैन: दिल्ली-पंजाब सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करेंगे ट्रांसपोर्टर्स
OMG: दुनिया के सबसे बड़े मैंग्रोव फॉरेस्ट का यह हाल, कोई नहीं जानता कितने बाघों की इस तरह खालें खींच ली गईं